All Posts - सभी पोस्ट्स Health Tips - स्वस्थ रहने के उपाय Information and Knowledge - ज्ञान की बातें क्या आप जानते हैं ?

Memory तेज न होने के कारण !

Memory हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है यह रोज के कार्यो को याद रखने तथा उस कार्य को सफलतापूर्वक करने में मदद  करती है ,लेकिन समस्या तब आने लगती है जब आपके Memory में ही problem हो और आप अपने कार्यों को सफलतापूर्वक नहीं कर पा रहे है। आप अपने रोजमर्रा के कार्यो को भूलते जा रहे है। 

आज कल लोगों की ज़िंदगी इतनी अस्त – वयस्त हो गयी है कि उन्हे याद ही नहीं रहता की उन्हें क्या काम करना है। काम का कोई Time – table नहीं रहता हैं। आजकल भूलने की समस्या लोगो की ज़िंदगी का हिस्सा बनती जा रही है। ज्यादातर लोगो को यह पता ही नहीं होता कि उन्हें memory से सम्बन्धी कोई बीमारी है,और भुलने की समस्या को ignore कर देते है , जो आगे चल कर एक बड़ी बीमारी का रूप ले लेती हैं।


आइये आपको एक उदाहरण के माध्यम से समझाते हैं :-

यह कहानी 42 साल के Arnav की  है। उन्हें बीती शाम की बातें याद नहीं रहती थीं। बात इतनी बढ़ गयी कि Arnav कर लेते , लेकिन बिल देना भूल जाते , पार्किंग में कार को ढूंढते रहते। Arnav अच्छी कंपनी में नौकरी करते थे , काम का दबाव भी ज्यादा न था , लेकिन कुछ गलत आदतें ,लगातार शराब व smoking करना और समय के साथ उनकी Memory कमजोर पड़ने कमजोर पड़ने लगी। सेहत पर भी असर हुआ। नतीजा नौकरी से हाथ धोना पड़ा। डॉक्टर से दिखाया गया तो डॉक्टर ने उनमे ‘ एट्रफी ‘ के साइन महसूस हुए। डॉक्टर ने Arnav को बताया कि एट्रफी की वजह से दिमाग के एक हिस्से से नसें सिकुड़ने लगती हैं। इसी वजह से भूलने की भूलने की बीमारी लग गयी थी , लेकिन समय पर इलाज , कॉउंसलिंग तथा घरवालों की मदद से Arnav ठीक हो गया।


Memory के हो सकते हैं कई दुश्मन :-

1. एक साथ कई काम करना :

Studio shot of young woman working in office covered with adhesive notes

आज कल बढ़ता काम का दबाव लोगो को मजबूर कर दिया है multi – tasking काम को जैसे : एक ही समय पर मिलना , फ़ोन सुनना ,किसी से मीटिंग की तैयारी करना इत्यादि को करते है।  कुछ लोग तो multi – tasking कार्यो को कर देते हैं   लेकिन ज्यादातर लोग इसमें फंस जाते है और short -term-memory का शिकार बन जाते हैं।



2. विटामिन की कमी :

lack of vitamin-stayreading

सही तरह से काम करने के लिए बी-1 तथा बी-12 की आवश्यकता पड़ती है। वैसे दिमाग को काम करने के लिए इसकी बहुत काम मात्रा चाहिये होता है लेकिन दिमाग के लिए यह बहुत जरुरी होता है। अगर इनकी कमी हो गयी तो इंसान चीजों को तुरंत भूलना शुरू कर देगा। ये विटामिन -दूध , दही , अंडा और चिकन आदि में मिलते है।

3. नींद की कमी :

lack of sleeping-stayreading

कहावत तो यह हैं कि जो ‘ सोया वो खोया  ‘ लेकिन दिमाग को Active रखने के लिए जरुरी है भरपूर नींद लेना। यह तनाव को तथा सेहतमंद रहने में मदद करता है। नींद दिमाग के tissues को relax करता है। इससे दिमाग अगले दिन के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाता हैं। अगर आपकी नींद पूरी न हो तो आपके दिमाग को आराम नहीं मिल पता है और आपका दिमाग अगले दिन के लिए तैयार नही हो पता है।



4. Depression :

Depression-stayreading

भूलने की बीमारी का एक बड़ा कारण Depression भी है। ज़्यादा काम करने के बाद भी सफलता ना मिलना , काम के कारण अपनों से दूर रहना और अपनी दिल की बात किसी से ना करना। ऐसे कुछ अहम कारण है जो युवाओं को Depression का शिकार बना देता है वही बजुर्गों में एकाकीपन से भी इन्हे भूलने की समस्या होने लगती है। इसलिए बेहतर है कि दूसरो से घुल मिल कर रहे

5. Smoking और Drinking करना :

smokling-drinking-stayreading

 

Smoking करने से दिमाग में पहुंचने वाली ऑक्सीजन की मात्रा में कमी होने लग जाती है जिससे इंसान चीजों को भूलना शुरू कर देता है। इसी तरह Drinking के ज्यादा सेवन से दिमाग में कुछ केमिकल बदलाव होने लगते है जिसका सीधा असर याद रखने की क्षमता पर पड़ता है।



6. Tumor :

tumor-stayreading

अगर कोई इंसान Brain – Tumor या Hypothyroid बीमारी का शिकार है तो उसे भूलने की बीमारी हो सकती है , लेकिन जैसे ही सही इलाज से बीमारी ठीक होती है , भूलने की समस्या भी खत्म हो जाती है।

7. बढ़ती उम्र और अल्टशाइमर्स (Alzheimer) :

Alzheimer-stayreading

 

Sugar और BP की शिकायत जिन लोगो को होती है , उनमे उम्र बढ़ने पर डिमेंशिया होने का खतरा ज्यादा होता है। डिमेंशिया में दिमाग की कोशिकाएं कमजोर पड़ने लग जाती है और मरीज अल्टशाइमर्स बीमारी का शिकार बनता है। यह भी एक तरह का डिमेंशिया ही है। इसमें Memory loss के साथ एक मरीज का orientation गड़बड़ा जाता है। वह भूलने लग जाता है बाथरूम कहाँ है। मार्केट में कोई शॉप किधर है आदि।



8. दिमागी चोट :

brain-injury-stayreading

 

किसी वजह से अगर दिमाग पर चोट लग जाये तो याद रखने की क्षमता कम हो जाती है। इसका कारण है दिमाग का जो हिस्सा हमारी पुरानी और नई यादे समेट कर रखता है , वह  चोट लगने की वजह से खराब हो जाता है ।


यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी ID है :blog.stayreading@gmail.com ! article पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे और आपको हमारी यह Post कैसी लगी. नीचे दिए गए Comment Box में जरूर लिखें. यदि आपको हमारी ये Post पसंद आए तो Please अपने Friends के साथ Share जरूर करें. और हाँ अगर आपने अब तक Free e -Mail Subscription activate नहीं किया है तो नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up जरूर करें.

Happy Reading !

Tags

About the author

StayReading.com

StayReading.com का Main Motive ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करना और आगे बढ़ने में Help करना है। Inspirational और Motivational Quotes का अनमोल संग्रह है, जो आपको प्रेरित करेगा की आप अपने जीवन को नये अंदाज में देखें। हर Quotesऔर Stories का संग्रह आपके नज़रिए को व्यापक करती है और बताती है की पूर्ण इंसान बनने का मतलब क्या होता है। यह हमे सिखाती है की हम भी अपने जीवन में ज़्यदा प्रेम, साहस और करुणा कैसे हासिल कर सकते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Sponsors links

Related Posts

Popular Posts

FREE Email Subscription