All Posts - सभी पोस्ट्स Health Tips - स्वस्थ रहने के उपाय Information and Knowledge - ज्ञान की बातें

ऐसे करें सर्दियों में घर का प्रदूषण कम !

सर्दियों का मौसम आते ही दिल्ली और आसपास की जगहों पर प्रदुषण का स्टार बढ़ जाता है। हम घर के बहार के प्रदुषण को कम तो नहीं कर सकते लेकिन अपने घर के अंदर के प्रदूषण को आसानी से नियंत्रित कर सकते हैं , ताकि हम खुद को इससे बचा सकें क्योंकि सर्दियाँ आते ही प्रदुषण घातक रूप ले लेता है।

वाहनों की वजह से आज भारत में वायु प्रदुषण एक प्रमुख मुद्दा बन गया है। आपके घर में ही काफी ऐसी चीज़ें हैं जिनसे वायु प्रदूषण फैलता है और आप इससे बार बार बीमार पड़ सकते हैं। हम अक्सर बाहरी वायु प्रदुषण का Topic लेकर बात करते रहते हैं लेकिन स्वास्थ्य के लिए घरेलू प्रदुषण भी कम खतरनाक नहीं। तो आइए दोस्तों ! हम आपको बताते हैं कि किस तरह आप अपने घर को रख सकते हैं प्रदुषण से मुक्त।


बसे बड़ी समस्या है एयर वेंटिलेशन :  

air ventilation-stayreading

घर में सबसे बड़ी समस्या एयर वेंटिलेशन की है। हम सर्दियों में घर के खिड़की दरवाजे बंद रखते हैं , ताकि ठण्ड और प्रदुषण न आ पाए। यदि अगर बाहर का वातावरण शुद्ध है तो आप खिड़कियां खोलकर घर के अंदर की हवा की गुणवत्ता में सुधार किया जा सकता है। आप खिड़की में जाली लगा सकते हैं जो कीड़े मकोड़ों को अंदर आने से रोकने में मदद करेगी।   



अगरबत्तियां भी करती है प्रदुषण :

agarbatti -stayreading

हर घर में सुबह सुबह पूजा करते समय अगरबत्ती जरूर जलाई जाती हैं। त्योहारों के मौकों पर तो इनकी मात्रा काफी बढ़ जाती है। लेकिन क्या आपको पता है इन अगरबत्तियों में से Carbon Mono Oxide , Sulphur Dioxide जैसी हानिकारक गैसें निकलती हैं। जिसे आपको अस्थमा जैसी बिमारी भी हो सकती है।

वैक्यूम क्लीनर है घर के लिए हानिकारक :

vaccum cleaner-stayreading

अक्सर हम घर को साफ़ करने के लिए वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल करते रहते हैं। लेकिन शायद आपको पता नहीं होगा कि बक्सुम क्लीनर के इस्तेमाल से धूल और कीटाणु घर की हवा में घुल मिल जाते हैं। यह सांसों के जरिये शरीर में प्रवेश कर जाते हैं।

इसमें क्लोस्ट्रिडियम बॉट्युलिज़्म नामक बैक्टीरिया होता है , जो वातावरण में घुलकर छोटे बच्चों को संक्रमित कर सकता है। जिन घरों में वैक्यूम क्लीनर अधिक इस्तेमाल होता है वहां दमा के मरीजों , बच्चों और कमज़ोर Immune System वालों पर हावी होने लग जाता है। इसलिए वैक्यूम क्लीनर को रोज़ के कामों में उपयोग न करें। आप इसे 15-15 दिन में इस्तेमाल कर सकते हैं ताकि आपके घर की हवा शुद्ध रह सके।  

Passive Smoking है खतरनाक :

passive smoking-stayreading

यह एक ऐसी स्तिथि है जिसमे व्यक्ति खुद धूम्रपान नहीं करता बल्कि दूसरे के धूम्रपान से उस धुंए को सांस के जरिये अंदर लेने को मज़बूर हो जाता है। आपको पता है बच्चे घर में सबसे ज्यादा Passive Smoking के शिकार होते हैं।



इस तरह से उनकी रक्त नलिका की दीवारें मोती होने लगती हैं और उनके दिल का दौरा पड़ने व स्ट्रोक का खतरा कई गुना अधिक बढ़ जाता है। इससे ऐसा भी होता है कि होने वाला शिशु मंदबुद्धि या फिर विकलांग पैदा हो सकता है।  

चिमनी का अहम योगदान :

chimney kitchen-stayreading

सर्दियाँ आते ही लोगों के घरों तरह तरह के व्यंजन बनने लग जाते हैं। ऐसे में घर में होने वाले धुंए से प्रदुषण की समस्या होना गारंटी है। अगर यदि आपके घर में चिमनी लगी है तो आप इस धुंए से बच सकते हैं।  

एयर फ्रेशनर से हो सकती है एलर्जी :

air freshner-stayreading

बहुत से लोगों को अक्सर एयर फ्रेशनर से एलर्जी रहती है और आपको पता है कि यह भी वायु प्रदुषण के अंदर ही आता है। क्योंकि इसमें Formaldehyde जैसे रसायन की मात्रा होती है।



इसमें मौजूद हानिकारक पदार्थों की वजह से हमारे शरीर पर गहरा प्रभाव डालता है ,जिससे सांस से संबंधित समस्याएं होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए इनका इस्तेमाल जितना कम करें , उतना ही बेहतर है। 


आपको हमारी यह Post कैसी लगी. नीचे दिए गए Comment Box में जरूर लिखें. यदि आपको हमारी ये Post पसंद आए तो Please अपने Friends के साथ Share जरूर करें. और हाँ अगर आपने अब तक Free e -Mail Subscription activate नहीं किया है तो नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up जरूर करें.

Happy Reading !

About the author

StayReading.com

StayReading.com का Main Motive ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करना और आगे बढ़ने में Help करना है। Inspirational और Motivational Quotes का अनमोल संग्रह है, जो आपको प्रेरित करेगा की आप अपने जीवन को नये अंदाज में देखें। हर Quotesऔर Stories का संग्रह आपके नज़रिए को व्यापक करती है और बताती है की पूर्ण इंसान बनने का मतलब क्या होता है। यह हमे सिखाती है की हम भी अपने जीवन में ज़्यदा प्रेम, साहस और करुणा कैसे हासिल कर सकते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Sponsors links

FREE Email Subscription