All Essay Thoughts in Hindi

अंधविश्वास को बढ़ावा दे रहा है Star Plus का “नज़र” Serial !

दोस्तों !स्वागत  है आपका एक बार फिर से Stayreading.com पर। आज हम आपको Television जगत के मशहूर व महिलाओं का पसंदीदा Serial के ऊपर चर्चा करने वाले हैं। जैसा कि आप सभी जानते ही हैं कि Serial हर एक घर का अहम् हिस्सा बन चुका है या आप यूँ कह सकते हैं कि यह हर एक घर के परिवार का सदस्य बन गया है। तो आज हम आपको एक ऐसे ही चर्चित सीरियल के बारे में बताने जा रहे हैं , जो लोगों के अंदर अन्धविश्वास पैदा कर रहा है।  

 


Star Plus का चर्चित सीरियल “नज़र” :

najar serial

दोस्तों ! आज हम बात करेंगे Star Plus के चर्चित नए सीरियल “नज़र” के बारे में जो  हाल ही में शुरू हुआ है। इस सीरियल की हम आपको थोड़ी जानकारी बता देते हैं कि इसमें एक डायन होती है जो हनुमान चालीसा पढ़ने से डरती है और इसके अलावा इस सीरियल में कई ऐसी अन्धविश्वास चीज़ें हैं जो लोगों के अंदर ऋणात्मक प्रभाव जरूर डालेगी। खासकर बच्चों के अंदर जो यह सब देखकर इन सभी चीज़ों को सच मानने लगते हैं। ऐसे serials हमारे देश के लोगों के लिए खलनायक का काम कर रहे हैं। यह हमें एक किस्म के depression में भी ले जाते हैं।   

अन्धविश्वास को बढ़ावा :

nazar-stayreading

जैसा कि हमने अभी आपको बताया कि ऐसे serials लोगों के अंदर अंधविश्वास परोस रहे हैं। आज के इस मॉडर्न एवं टेक्नोलॉजी भरे युग में ऐसी अंधविश्वासी चीज़ें लोगों को पीछे धकेल , जो कि एकदम गलत है। आजकल की घरेलु महिलाएं अब चाहे वो Housewife हो या कहीं job जाती हों। Serial को देखने के लिए अपना सारा काम time से पहले ही निपटा लेती हैं।



सीरियल मानो आज के युग में मानो एक magnet  का कार्य कर रहा है। जो खुद ब खुद लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। हमें serials से कोई नाराज़गी या दुश्मनी नहीं है परन्तु ऐसे serial से जरूर नराज़गी है जो modern time में भी लोगों के अंदर अन्धविश्वास के बीज बो रहे हैं। 

जीवन पर पड़ता प्रभाव :

girl in sadness-stayreading

अंधविश्वासों से टीवी सीरियलों द्वारा फैलाए जा रहे जाल में लोग फंसते जा रहे हैं। वर्ष 2013 में राजस्थान के गंगापुर सिटी में रहने वाले एक परिवार ने जो कि टीवी पर सिर्फ धार्मिक सीरियल ही देखा करता था, भगवान शिव से मिलने और स्वर्ग जाने की चाहत में जहर खा लिया और उन्ही परिवार के 8 में से 5 सदस्यों की मृत्यु हो गई।

जैसा कि हमने आपको बताया कि खासकर महिलाओं को सीरियल देखना बेहद पसंद हैं। इसके साथ साथ घर पर रह रहे बच्चे भी सीरियल से मनोरंजन का लुत्फ़ उठाते हैं और वह इन अंधविश्वासी और अजीबोगरीब घटनाओं को सच भी मान लेते हैं , जो उनके जीवन पर गलत प्रभाव डालती है। बच्चों और महिला दर्शकों की अधिक संख्या के चलते ही टीवी चैनलों पर ऐसे serials की लाइन लग गई है।

Business करने का नया Trend बना Serial :

business serial -stayeading

कयामत की रात और  नागिन 3 जैसे serials की बढ़ती TRP के चलते बाकी producers में मानो युद्ध ही छिड़ गया हो। इन serials में भी अंधविश्वास ,भूत-प्रेत ,Black Magic आदि को दिखाया गया है। इसी के चलते अब एक नया सीरियल “नज़र” जिसके ऊपर अभी हमने चर्चा करी , इसमें भोजपुरी जगत की मशहूर अदाकारा या हम यूँ कह सकते हैं कि Bigg Boss 10 सीजन की कंटेस्टेंट रह चुकी मोनालिसा इसमें अभिनय करेंगी।



इसमें इनका किरदार एक डायन का है जो एक लम्बी चोटी लिए आपको नज़र सीरियल के Promo में दिखाई दी होंगी। अब देखना यह होगा कि यह सीरियल लोगों के अंदर किस प्रकार का जाल बिखेरता है। वैसे हम आपको बता दें कि यह सीरियल 30 जुलाई से Tv screen पर लांच हो चुका है। 

TRP बढ़ाने के लिए अपनाया जा रहा है गलत तरीका :

serial business-stayreading

अंधविश्वास फ़ैलाने में सिर्फ धार्मिक सीरियल ही नहीं बल्कि कई अन्य सीरियल भी हैं। जो कलर्स टीवी पर एक इच्छाधारी नागिन को मौडर्न अवतार में बदला लेते हुए दिखाया गया है। इसी तरह अगर पिछले दिनों की बात की जाए तो टीवी पर एक Serial ‘कुबूल’ प्रसारित किया जा रहा था, जिसमें भोपाल के शाही घराने और वहां के नवाब को दिखाया गया था। उसमे अति आधुनिक परिवेश वाले इस सीरियल में चुड़ैल, काला जादू, बुरी आत्माएं और पिशाच आदि और न जाने क्या क्या दिखाया गया था। इसी तरह के सीरियल समाज को अँधेरे की तरफ धकेले जा रहे हैं।

मानसिक रोग के शिकार हो रहे हैं समाज के लोग :

mental sad -stayreading

इन serials को देख कर लगता है कि अंधविश्वास पिछड़े और अनपढ़ लोगों में ही नहीं होता, बल्कि बढ़िया पढ़े लिखे लोगों पर भी मानसिक रोग अपनी चपेट में ले रहा है। इस तरह के serial देखकर हर कोई अब चाहे वो बड़े हो या छोटे उनके मन में ये सभी घटनाएं स्थाई रूप से जमा हो जाती है। आज के दौर में लगभग हर छोटा बड़ा चैनल अपने दर्शकों को मनोरंजन के नाम पर अंधविश्वास परोस कर दे रहा है।



इन्ही सीरियल की बदौलत एक घटना और हम आपको बताना चाहते हैं कि 8वीं कक्षा की छात्रा ममता जब सुबह सुबह मंदिर जा रही थी तो किसी ने यूँ ही पूछ लिया कि , ‘‘अरे तुम मंदिर से आ रही हो… स्कूल को देर नहीं हो रही?’ इस पर ममता कहने लगी कि , ‘‘क्या करूं? मम्मी की जिद है कि व्रत करूं या न करूं, मगर हर सोमवार को शिव जी के दर्शन अवश्य किया करूं। इस पर विरोध करने पर ममता ने उनको ‘देवों के देव महादेव’ सीरियल देखने को कहा जिस में वाकई में यह दिखाया गया है कि ऐसा करने से हर मनोकामना पूरी होती है” !

अब चाहे बड़े होने पर भी ममता कितनी भी आधुनिक क्यों न हो जाए, वह हर सोमवार को शिव जी के दर्शन अवश्य करेगी। अगर किसी कारण यह संभव न हो पाए तो उसके मन में हमेशा अनहोनी की आशंका बनी रहेगी। अब आप यह भी देखिये कि टीवी तो खुद ही एक विज्ञान की देन है, लेकिन यह टीवी 21वीं सदी के बच्चों पर मनोवैज्ञानिक प्रभाव डाल कर उन्हें अंधविश्वास की ओर धकेल रही है। 

ऐसे Serials से होने वाली अन्य समस्याएं :

Woman in living room watching television

अब तो आप अच्छे से अजान ही गए होंगे कि यह सीरियल अंधविश्वास को कितना बढ़ावा दे रहा है। जाहिर से बात यह भी है कि यह सीरियल भी कई तरह की समस्याएं भी उत्पन्न करेगा। जो घर परिवार में कलेश की वजह बन सकता है। यह पुरानी रूढ़िवादिता और कुरीतियों को बढ़ावा दे सकता है। आज के इस टेक्नोलॉजी भरे दौर में Money एक primary medium बन चुका है। इसी चलते सभी serials के बीच TRP को लेकर घमासान मचा रहता है। इसी के चलते serials के writers भी ऐसे contents ready करते हैं जो लोगों को अपनी तरफ attraction दें। लेकिन वह यह नहीं सोचते कि इसमें समाज में क्या क्या side effects हो सकते हैं। 



 आज के दौर से पहले के Serials :

old serials-stayreading

अगर हम आज से 20-25 साल पुराने serials की बात करें तो वह आज के serials से कई गुना ज्यादा बेहतरीन थे। पहले के serials में ऐसी अंधविश्वासी और रूढ़िवादिता कम ही देखने को मिलती थी और इसके साथ साथ वह serials समय से आगे का सोचते हुए चलते थे। उनमें इस तरह की कोई अंधविश्वास फैलाने वाली चीज़ नहीं होती थी। ऐसे serials को पूरा परिवार साथ बैठकर भी देख सकता था। लेकिन आजकल के serials में ऐसे कई scenes बीच में आ ही जाते हैं जो पूरा परिवार संयुक्त होकर नहीं देख सकता  जिसमे खासकर बच्चे शामिल हैं। 



इस तरह से की जा सकती है रोकथाम :

BCCC logo-stayreadig

ऐसे serials जो समाज में अन्धविश्वास फैलाते हैं तो इनके लिए एक community भी बनी हुई है, जिसके तहत आप BCCC / IBF की official website पर जाकर अपनी complaint दर्ज करा सकते हैं। इसके अलावा इन सभी के रोकथाम के लिए आपको ऐसे serial देखने ही बंद कर देने चाहिए। अगर आपका interest ऐसे serials को देखने का करता भी है तो आप ऐसे serials में होने वाली सभी अंधविश्वासी गतिविधियों को काल्पनिक मात्र लेकर चलना होगा। शायद तभी हम और आप समाज में मिलकर अन्धविश्वास के बने जाल को खत्म क्र सकते हैं।  


दोस्तों ! अगर आपके पास भी ऐसी अंधविश्वास से सम्बंधित serials की जानकारी या फिर ऐसी जानकारी जो समाज को पीछे धकेल रही है तो आप हमें Blog.stayreading@gmail.com पर अच्छा सा article create करके mail कर सकते हैं। हम आपके article को आपके नाम के साथ Stayreading.com पर publish करेंगे , जो शायद समाज के लोगों में बैठे अन्धविश्वास को खत्म करने में मददगार साबित हो सकता है। 

आपको हमारी यह Post कैसी लगी. नीचे दिए गए Comment Box में जरूर लिखें. यदि आपको हमारी ये Post पसंद आए तो Please अपने Friends के साथ Share जरूर करें. और हाँ अगर आपने अब तक Free e -Mail Subscription activate नहीं किया है तो नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up जरूर करें.

Happy Reading !

About the author

StayReading.com

StayReading.com का Main Motive ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करना और आगे बढ़ने में Help करना है। Inspirational और Motivational Quotes का अनमोल संग्रह है, जो आपको प्रेरित करेगा की आप अपने जीवन को नये अंदाज में देखें। हर Quotesऔर Stories का संग्रह आपके नज़रिए को व्यापक करती है और बताती है की पूर्ण इंसान बनने का मतलब क्या होता है। यह हमे सिखाती है की हम भी अपने जीवन में ज़्यदा प्रेम, साहस और करुणा कैसे हासिल कर सकते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment