All Posts - सभी पोस्ट्स Hindi Quotes Life Changing Quotes - प्रेरक विचार जो आपकी जिंदगी बदल देंगे

Jai Prakash Narayan (जय प्रकाश नारायण) Quotes in Hindi and Suvichar

जयप्रकाश नारायण का जन्म 11 अक्टूबर 1902 को बिहार के सारण जिले के सिताबदियारा गाँव में हुआ। उनके पिता का नाम हर्सुल दयाल श्रीवास्तव और माता का नाम फूल रानी देवी था। वो अपनी माता-पिता की चौथी संतान थे। जब जयप्रकाश 9 साल के थे तब वो अपना गाँव छोड़कर कॉलेजिएट स्कूल में दाखिला लेने के लिए पटना चले गए।

स्कूल में उन्हें सरस्वती, प्रभा और प्रताप जैसी पत्रिकाओं को पढने का मौका मिला। उन्होंने भारत-भारती, मैथिलीशरण गुप्त और भारतेंदु हरिश्चंद्र के कविताओं को भी पढ़ा। इसके अलावा उन्हें ‘भगवत गीता’ पढने का भी अवसर मिला।

जे.पी. अथवा ‘लोक नायक’ के नाम से मशहूर जयप्रकाश नारायण एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, समाज सुधारक और राजनेता थे। भारत सरकार ने उन्हें सन 1998 में मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से नवाजा है । सन 1965 में उन्हें समाज सेवा के लिए ‘मैगसेसे’ पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।


पूरा नाम : जयप्रकाश नारायण


जन्म : 11 अक्टूबर 1902


जन्मस्थान : सिताबदियारा, सारण, बिहार


पिता : हरसू दयाल श्रीवास्तव


माता : फूल रानी देवी


जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan) द्वारा कहे गए अनमोल सुविचार :-

Quote 1 :- सच्ची राजनीति मानवीय प्रसन्नता को बढ़ावा देने बारे में हैं। ||

True politics is about promotion of human happiness.

जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan)

Quote 2 :- ये (साम्यवाद ) इस सवाल का जवाब नहीं देता : कोई आदमी अच्छा क्यों हो ? ||

It [Communism] did not offer an answer to the question: Why should a man be good?

जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan)

Quote 3 :- मेरी रुचि सत्ता के कब्जे में नहीं , बल्कि लोगों द्वारा सत्ता के नियंत्रण में है। ||

My interest is not in the capture of power, but in the control of power by the people. 

जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan)

Quote 4 :- एक हिंसक क्रांति हमेशा किसी न किसी तरह की तानाशाही लेकर आई है… क्रांति के बाद , धीरे-धीरे एक नया विशेषाधिकार प्राप्त शासकों एवं शोषकों का वर्ग खड़ा हो जाता है , लोग एक बार फिर जिसके अधीन हो जाते हैं। ||

A violent revolution has always brought forth a dictatorship of some kind or the other… . After a revolution, a new privileged class of rulers and exploiters grows up in the course of time to which the people at large is once again subject.

जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan)




Quote 5 :- अगर आप सचमुच स्वतंत्रता , स्वाधीनता की परवाह करते हैं , तो बिना राजनीति के कोई लोकतंत्र या उदार संस्था नहीं हो सकती। राजनीति के रोग का सही मारक और अधिक और बेहतर राजनीति ही हो सकती है। राजनीति का अपवर्जन नहीं। ||

If you really care for freedom, liberty, There cannot be any democracy or liberal institution without politics. The only true antidote to the perversions of politics is more politics and better politics. Not negation of politics.

जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan)


आपको हमारी यह Post कैसी लगी. नीचे दिए गए Comment Box में जरूर लिखें. यदि आपको हमारी ये Post पसंद आए तो Please अपने Friends के साथ Share जरूर करें. और हाँ अगर आपने अब तक Free e -Mail Subscription activate नहीं किया है तो नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up जरूर करें.

Happy Reading !

About the author

StayReading.com

StayReading.com का Main Motive ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करना और आगे बढ़ने में Help करना है। Inspirational और Motivational Quotes का अनमोल संग्रह है, जो आपको प्रेरित करेगा की आप अपने जीवन को नये अंदाज में देखें। हर Quotesऔर Stories का संग्रह आपके नज़रिए को व्यापक करती है और बताती है की पूर्ण इंसान बनने का मतलब क्या होता है। यह हमे सिखाती है की हम भी अपने जीवन में ज़्यदा प्रेम, साहस और करुणा कैसे हासिल कर सकते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Sponsors links

Related Posts

Popular Posts

FREE Email Subscription