All Festivals Thoughts in Hindi

इस बार स्वतंत्रता दिवस है बेहद ख़ास !

स्वतंत्रता दिवस भारतीयों के लिये बहुत ही अहम् दिन है। इस दिन अंग्रेज़ों से कई वर्षों की गुलामी के बाद भारत को आजादी मिली थी। 15 अगस्त 1947, भारतीय इतिहास का महत्वपू्र्णं दिन था, जब हमारे भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना सब कुछ न्योछावर कर भारत देश को आजादी दिलाई थी । इसी तरह पंडित जवाहर लाल नेहरु भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के रुप में नियुक्त हुए और तब से लेकर आज तक हर भारतीय इस दिन को एक ख़ास उत्सव की तरह मनाता है।

इस कार्यक्रम को नई दिल्ली में एक राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया जाता है जिसमें भारत के प्रधानमंत्री द्वारा लाल किले पर झंडा फहराया जाता है जिसमे लाखों की संख्या में लोग शामिल भी होते हैं ।झंडा फहराने के बाद तीनों भारतीय सेनाओं द्वारा अपनी ताकत का प्रदर्शन किया जाता है और साथ ही कई रंगारंग कार्यक्रमों को प्रदर्शित भी किया जाता है। इस खास अवसर पर सभी लोग भारत के उन सभी महान हस्तियों को याद करते हैं जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए अपना महत्वपूर्णं योगदान दिया था । तो आइए जानते हैं भारत की आजादी के बारे में कुछ और महत्वपूर्ण जानकारी। 


भारत में स्वतंत्रता दिवस सभी धर्म के लोग पूरी खुशी के साथ मनाते हैं। इसी दिन लगभग 200 वर्षों के बाद भारत को अंग्रेज़ों से आजादी मिली थी। यह दिन राष्ट्रीय अवकाश के रुप में घोषित कर दिया जाता है , जिसमें सभी स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय तथा कार्यालय आदि बंद रहते हैं । इस ख़ास पर्व को सभी स्कूल, कॉलेज के विद्यार्थीयों द्वारा पूरे उत्साह के साथ मनाया जाता है। इन कार्यक्रमों के शुरू होने से पहले मुख्य अतिथि द्वारा झंडारोहण किया जाता है। जिसमें सभी मिलकर एक साथ राष्ट्रगान करते हैं और उसके बाद विभिन्न कार्यक्रमों के द्वारा इस दिन को यादगार मनाया जाता है।



यह तो आप जानते हैं कि भारत एक ऐसा देश है जहां करोड़ों लोग विभिन्न धर्म, परंपरा, और संस्कृति में एक साथ रहते है और स्वतंत्रता दिवस के इस उत्सव को पूरी खुशी के साथ मनाते हैं। इस दिन, भारतीय होने के नाते, हमें गर्व होना चाहिये और ये वादा करना चाहिये कि हम किसी भी प्रकार के आक्रमण या अपमान से अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिये सदा देशभक्ति से पूर्णं और ईंमानदार रहेंगे।

भारत का इतिहास है वर्षों पुराना :

india history

आप तो जानते ही हैं कि भारत का इतिहास हजारों वर्ष पुराना है | इस लंबे इतिहास में ऐसे कई विदेशी आक्रमणों का सामना करना पड़ा| विदेशी आक्रमणकारियों के आगमन एवं यहां की सभ्यता संस्कृति में घुल-मिल जाने का सिलसिला मध्यकालीन मुगलों के शासन तक चलता रहा |18 वीं सदी में जब अंग्रेजों ने भारत के कुछ हिस्सों पर अधिकार जमाया तो पहली बार यहां के लोगों को गुलामी का एहसास हुआ था|



आजादी का यह संघर्ष 19वीं शताब्दी के मध्य में प्रारंभ हुआ था | इस संघर्ष में भारत माता के असंख्य वीर पुत्र शहीद हुए। अधिकतर को तो काला पानी की सजा भी दी गई थी और यह संघर्ष वर्ष 1947 तक चला | इसके बाद हमें आजादी मिली। इस आजादी के संघर्ष के अनगिनत लोगों जिसमे मंगल पांडे, महारानी लक्ष्मीबाई, तात्याटोपे, कुंवर सिंह, राम प्रसाद, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, खुदीराम बोस, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरु, लाल बहादुर शास्त्री, डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक, जय प्रकाश नारायण, अब्दुल कलाम आजाद इत्यादि का विशेष योगदान था|


स्वतंत्रता दिवस के ख़ास मौके पर हम आपके लिए लाये हैं आजादी के कुछ प्यार भरे सन्देश  :


 

हम आजाद हैं, ये आजादी कभी छिनने नहीं देंगे

तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नहीं देंगे

कोई आंख भी उठाएगा जो हिंदुस्तान की तरफ

उन आंखों को फिर दुनिया देखने नहीं देंगे!!


चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में हैं,

इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं,

मौत जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं,

कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं !


लड़ें वो वीर जवानों की तरह,

ठंडा खून फ़ौलाद हुआ,

मरते-मरते भी मार गिराए,

तभी तो देश आज़ाद हुआ.!!!





कहते हैं अलविदा हम अब इस जहान को,

जा कर ख़ुदा के घर से अब आया न जाएगा,

हमने लगाई आग हैं जो इंकलाब की,

इस आग को किसी से बुझाया ना जाएगा.


दे सलामी इस तिरंगे को

जिस से तेरी शान हैं,

सर हमेशा ऊँचा रखना इसका

जब तक दिल में जान हैं..!!


गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,

मंदिर मस्जिद के संग गिरजा,

शांति प्रेम की देता शिक्षा,

मेरा भारत सदा सर्वदा..!!


आओ देश का सम्मान करें…

शहीदों की शहादत याद करे

एक बार फिर से राष्ट्र की कमान,

हम हिंदुस्तानी अपने हाथ धरे,

आओ स्वतंत्रता दिवस का मान करे!


संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,

हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे

हम मिलजुल के रहे ऐसे की

मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले जैसे.

Happy Indian Independence Day 2018





भूल न जाना भारत मां के सपूतों का बलिदान

इस दिन के लिए हुए थे जो हंसकर कुरबान

आजादी की ये खुशियां मनाकर लो ये शपथ

कि बनाएंगे देश भारत को और भी महान !


तीन रंग का नही वस्त्र, ये ध्वज देश की शान हैं,

हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान हैं,

यही है गंगा, यही हैं हिमालय, यही हिन्द की जान हैं

और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान हैं.


देश के उन वीर जवानों को सलाम

जो सुरक्षा का एहसास दिलाते हैं,

जो हथेली पर रखकर जान,

हमारी हिफाजत का जिम्मा उठाते हैं.


यदि प्रेरणा शहीदों से नहीं लेंगे

तो ये आजादी ढलती हुई साँझ हो जायेगी

और पूजे न गए, वीर

तो सच कहता हूँ कि नौजवानी बाँझ हो जायेगी.





ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,

मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,

नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,

मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता

Happy Independence Day 2018


मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,

वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ !!

क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का ,

मुस्लमान हूँ मैं सच्चा, दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ !!

हिंदुस्तान ज़िंदाबाद, जय हिन्द, जय भारत!


सदा ही लहराता रहे ये तिरंगा हमारा

सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा

गूंज उठता हैं जहां में चारो ओर…..

लोगो की जुबान से वन्दे मातरम का नारा

वतन की सर बुलंदी के लिए ये दिल क्या

ख़ुशी ख़ुशी मिट जाए ये जिस्म भी हमारा

जो शहीद हो गए वो अमर कहलाये अक्सर

उनकी कुरबानियों के आगे सदा नमन हमारा

इस देश के वासी बखूबी ये जानते हैं की

सोने की चिड़िया कहलाता प्यारा देश हमारा !





मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ

यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,

मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,

तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।


सुन्दर हैं जग में सबसे,

नाम भी न्यारा हैं

जहा जाती-भाषा से बढ़कर

देश-प्रेम की धारा हैं

निश्छल, पावन, प्रेम पूर्ण

वो भारत देश हमारा है

Happy Swatantrata Diwas !





कुछ नशा तिरंगे की आन का हैं,

कुछ नशा मातृभूमि की शान का हैं

हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा

नशा ये हिंदुस्तान की शान का हैं..!!


गूँज रहा हैं दुनिया में भारत का नगाड़ा

चमक रहा आसमा में देश का सितारा

आज़ादी के दिन आओ मिलके करें दुआ

की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा

हैप्पी पंद्रह अगस्त दोस्तों


चलो फिर से वो नजारा याद करले,

सहीदो के दिल में थी वो ज्वाला याद करले,

जिसमे बहकर आज़ादी पहुची थी किनारे पे,

देसभक्तो के खून की वो धारा याद करले.


इश्क़ तो करता हैं हर कोई

मेहबूब पे मरता हैं हर कोई,

कभी वतन को मेहबूब बना कर देखो

तुझ पे मरेगा हर कोई !!!


अलग है भाषा धरम जात

और प्रांत भेष परिवेश

पर हम सबका एक ही गौरव

राष्ट्र ध्वज तिरंगा श्रेष्ठ !





ये बात हवाओ को बताये रखना,

रौशनी होगी चिरागो को जलाये रखना.

लहू देकर जिसकी हिफाज़त हमने की,

ऐसे तिरंगे को सदा दिल मे बसाये रखना

जय हो इंडिया


काँटों में भी फूल खिलाएं

इस धरती को स्वर्ग बनाएं,

आओ, सबको गले लगाएं

हम स्वतंत्रता का पर्व मनाएं

स्वतंत्रता दिवस 2018 की शुभकामना !


मोहब्बत का दूसरा नाम हैं मेरा देश

अनेको में एकता का प्रतिक हैं मेरा देश

चंद गैरों की सुनना मुझे गँवारा नहीं

हिन्दू हो या मुस्लिम सभी का प्यारा है मेरा देश !


दुश्मनी के लिए यह याद नहीं रहता

वतन मेरा दोस्ती पर कुर्बान हैं

नफरत पाले कोई उड़ान नहीं भरता

दिलों में चाहत ही मेरे वतन की शान हैं!


ना हिन्दू बन कर देखो

ना मुस्लिम बन कर देखों

बेटों की इस लड़ाई में

दुःख भरी भारत माँ को देखो !


कीमत करो शहीदों की

वो देश पर कुर्बान हुए

सिर्फ दो दिनों की मोहताज नहीं हैं देश भक्ति

नागरिको की एकता ही हैं देश की असल शक्ति !





आजाद भारत के लाल हैं हम

आज शहीदों को सलाम करते हैं

युवा देश की शान हैं हम

अखंड भारत का संकल्प करते हैं !


मोक्ष पाकर स्वर्ग में रखा क्या हैं

जीवन सुख तो मातृभूमि की धरा पर हैं

तिरंगा कफ़न बन जाये इस जनम में

तो इससे बड़ा धर्म क्या हैं !


खुशनसीब हैं जो वतन पर कुर्बान हुये

जो तिरंगे में लिपट कर जिन्दगी से आजाद हुये

मर कर भी अमर हो गये वो

साधारण मनुष्य से शहीद की शहादत हो गये वो !


तिरंगा हमारा हैं शान- ए-जिंदगी

वतन परस्ती हैं वफ़ा-ए-ज़मी

देश के लिए मर मिटना कुबूल हैं हमें

अखंड भारत के स्वपन का जूनून हैं हमें





ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई

मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता

नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई

मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता


धर्म ना हिन्दू का हैं ना ही मुस्लिम का

धर्म तो बस इंसानियत का हैं

ये भूख से बिलकते बच्चो से पूछों

सच क्या हैं झूठ क्या हैं

किसी मंदिर या मज्जित से नहीं

बेगुनाह बच्चे की मौत पर किसी माँ से पूछो

देश का सपूत बनाना हैं तो कर्तव्य को जानो

अधिकार की बात न करों देश के लिए जीवन न्यौछारों


आपको हमारी यह Post कैसी लगी. नीचे दिए गए Comment Box में जरूर लिखें. यदि आपको हमारी ये Post पसंद आए तो Please अपने Friends के साथ Share जरूर करें. और हाँ अगर आपने अब तक Free e -Mail Subscription activate नहीं किया है तो नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up जरूर करें.

Happy Reading !

About the author

StayReading.com

StayReading.com का Main Motive ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करना और आगे बढ़ने में Help करना है। Inspirational और Motivational Quotes का अनमोल संग्रह है, जो आपको प्रेरित करेगा की आप अपने जीवन को नये अंदाज में देखें। हर Quotesऔर Stories का संग्रह आपके नज़रिए को व्यापक करती है और बताती है की पूर्ण इंसान बनने का मतलब क्या होता है। यह हमे सिखाती है की हम भी अपने जीवन में ज़्यदा प्रेम, साहस और करुणा कैसे हासिल कर सकते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment