All Posts - सभी पोस्ट्स Information and Knowledge - ज्ञान की बातें Self Improvement खुद को बेहतर बनाने के टिप्स छोटी-छोटी मगर बड़े काम की बातें

तनाव (Stress) को कैसे दूर करें !

तनाव ! जो आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में मनुष्य को अंदर ही अंदर खोखला कर रहा है। ऐसे में अगर आप अचानक ही महसूस करने लगे कि आपके लिए दुनिया ख़त्म होती जा रही है, तो ऐसा सोचने वाले इस दुनिया में आप अकेले नहीं हैं क्योंकि तनाव यानी Stress/Depression एक गंभीर बीमारी है, जिससे लगभग दुनिया के सभी व्यक्ति प्रभावित हैं । ऐसा कोई राज्य या शहर नहीं है जहाँ लोग तनाव से मुक्त हो । इसी बीच व्यक्ति के तनाव होने के कई कारण हो सकते हैं जिसमे किसी की नौकरी छूट जाना, कोई ख़ास अपना दूर हो जाना , कोई बुरा संबंध, कोई दुखद घटना, या किसी अन्य तरह का तनाव जो हमें अलग ही दुनिया में ले गया हो

जब आप तनाव में रहते हैं तो आपकी सभी भावनाएँ किसी विशेष घटना या स्थिति को याद करते हुए सामने आ जाती है। वहीं दूसरी तरफ यह तनाव आपके विचारों, भावनाओं, समझ और व्यवहार को बुरी तरह से प्रभावित करता है। इस दौरान आप सिर्फ एक ही चीज़ को लेकर उदास नहीं रहते बल्कि हर एक चीज (चाहे वो कितनी ही छोटी हो) को लेकर उदास हो जाते हैं । इसके बाद फिर आप चाहे इन सभी चीज़ों को भुलाने की कितनी ही कोशिश क्यों न कर लें लेकिन यह तनाव आपका पीछा जल्दी नहीं छोड़ता । इसलिए हम आपको बताएंगे कि किस तरह से तनाव आपके भीतर आ जाता है और इससे बचने के क्या उपाय हो सकते हैं।


तनावग्रस्त होने के लक्षण :


1. मन और दिमाग का काबू में न होना :

depressed -stayreading

वैसे तो तनाव के लक्षण अलग-अलग लोगों में अलग-अलग हो सकते हैं । लेकिन नाव का सबसे पहला लक्षण मानसिक तौर पर ही सामने आता हैजिसमे निराशा की स्थिति , किसी काम में मन न लगना , अकेले में रहना , किसी से बात करने का मन न होना, घबराहट और बेचैनी का अनुभव होना, याद्दाश्त में कमी आना आदि लक्षण सामने आते हैं । तनाव के कारण मनुष्य का मन और दिमाग उसके काबू से बाहर हो चुका होता है और वह खुद को असहाय महसूस करने लगता है। ऐसी स्तिथि में उस मनुष्य के मन में आत्महत्या तक का विचार आने लगता है और कभी-कभी वह यह कदम उठा भी लेते हैं |

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • जीवन के प्रति सकरात्मक दृष्टीकोण रखने का प्रयास करे, जीवन के परिवर्तन को स्वीकार करें |
  •  तनाव के कारण कई बार व्यक्ति बहुत चिड़चिड़ा हो जाता और आपके बाते करने पर वो सिर्फ मौन ही रहता है । ऐसे हालात पर उस व्यक्ति के साथ रहने का प्रयास करे । यक़ीन करें आपका साथ उस व्यक्ति को बहुत दिलासा देगा और उसे ये प्रतीत होगा कि वो अकेला नहीं है |
  • अक्सर तनाव में बदला लेने का ख्याल आता है तो पीड़ित समझाएं कि बदला किसी बात का हल नहीं है।





2. नींद न आना :

sleeping problem-stayreading

तनावग्रस्त होने के कारण सबसे पहले व्यक्ति की नींद प्रभावित होती है। इस दौरान उस व्यक्ति को कई बार तो नींद ही नहीं आती और वह रात भर करवटें बदल बदलकर अपने ख्यालों में खोया रहता है । ऐसे हालात में नींद प्रभावित होने से शरीर में और भी प्रभाव होने लगते हैं। जैसे शरीर में थकान और ऊर्जा की कमी, सही ढंग से भोजन न करना , वज़न का कम होना, बार बार होने वाला सिर दर्द आदि ।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • तनाव दूर करने के लिए पर्याप्त नींद लें। नींद पूरी होगी तो दिमाग तरोताजा होगा और नकारात्मक भाव मन में कम आएंगे।
  • अपने सोने का समय निर्धारित रखें और उसका प्रतिदिन पालन करें ।
  • खुद को happy रखने और थोड़े में ही satisfied रहने की कोशिश करें। stress को अपनी life में importance न दें।

3. छोटी छोटी बात पर गुस्सा आना :

An angry or stressed young businesswoman shouts out a stream of letters toward a raised hand making a gesture to stop.

तनावग्रस्त रहने वाले व्यक्ति को छोटी छोटी बात पर गुस्सा आने लगता है और एक बार जब गुस्सा आ जाए तो खुद को शांत करना उस व्यक्ति के भी हाथ में नहीं होता क्योंकि सी स्तिथि में उस व्यक्ति का मन भी काबू में नहीं रहता और इस स्तिथि में वह इंसान खुद को या फिर सामने वाले को भी नुक्सान पहुंचा सकता है

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • अपने गुस्से पर नियंत्रण करें तो शांत दिमाग से सोचें कि मुद्दा क्या था, गलती किसकी थी और अब आगे क्या करना है। इससे फायदा यह होगा कि आपको पूरे मामले में गलती भी समझ आएगी और आप समझदारी से कदम उठाओगे ।
  • तनाव के दौरान पीड़ित में खुद को नुक्सान पहुंचाने की भावना पैदा होती है, तो ऐसे हालात में उसे संभालें।
  • निश्चित दिनचर्या ना बनाकर भी आप तनावग्रस्त हो सकते हैं क्योंकि बिना planning के साथ आपका कार्य पीछे छूट सकता है।





4. मन में ऋणात्मक विचार का आना :

negative thoughts-stayreading

मन में ऋणात्मक विचार आना तनाव का एक मुख्य लक्षण है। जिसमे व्यक्ति खुद को सिर्फ निराश करता रहता है और उस दौरान वह यही सोचता रहता है कि अब आगे कुछ भी ठीक नहीं होगा। जिससे उसका Confidence level बिलकुल शून्य हो जाता है । जिससे उस व्यक्ति में बेचैनी और चिड़चिड़ापन आने लग जाता है  और उस व्यक्ति के बर्ताव में भी बदलाव आ जाता है और वह उन कार्य को अंजाम देता है जिन्हे वह सोच भी नहीं सकता। जैसे दूसरों को तकलीफ देना आदि ।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • आज के ज़माने में सभी लोग अपनी सभी कार्यों को फटाफट निपटाना चाहते हैं जिस कारण वे एक समय में सभी कार्य करने की सोच लेते हैं और इस प्रयास में वे असफल होकर खुद को तनावग्रस्त कर लेते हैं।
  • आप अपने आप को लोगों से दूर मत रखिये। इससे आपके अंदर हीन भावना उत्पन्न हो सकती है जिससे परेशान होकर इंसान गलत कदम भी उठा लेता है।
  • जीवन में चाहे कैसी भी परिस्तिथि आये। बस अपने आपको कभी भी नकारात्मक विचारों के बीच न पड़ने दें।

5. व्यक्तिगकत समस्याओं से होने वाला तनाव :

depressed woman-stayreading

अगर आपको कोई बात परेशान कर रही है तो वह आपके दिमाग को तनाव से घेर लेती है जिससे आपके दिमाग की सोचने की क्षमता पर काफी ज्यादा प्रभाव पड़ता है । ऐसे हालातों में आप किसी आम समस्या में ही तनाव के शिकार हो सकते हैं।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • आज के भागदौड़ वाले समय में औसतन व्यक्ति यह गलती कर देता है कि वह अपने किसी Particular work पर सही ढंग से focus नहीं रख पाता। जिस कारण उसके सभी कार्य सही ढंग से पूरे नहीं हो पाते और नतीजा यह निकलता है कि उन्हें तनाव अपनी गिरफ्त में ले लेता है।
  • गलत खान पान की वजह से भी आप तनावग्रस्त हो सकते हैं। इसलिए आपको भोजन में सिर्फ पौष्टिक आहार ही लेना है।
  • कॉफी और चाय का अत्यधिक सेवन करने से आपको मानसिक तनाव हो सकता है। इसलिए इसका अत्यधिक सेवन करना कम कीजिये।





6. परिवार में तनाव:

family tension-stayreading

परिवार में किसी बच्चें, किशोर या किसी सदस्य का तनाव में होना जिसे देखभाल की जरुरत है। इन तरह के कारणों से भी तनाव हो सकता है। मूल्यों और विश्वास में मतभेद होना, जैसे कि आप अपनी family life को महत्व देने वाले इंसानों में से एक हैं लेकिन आप किन्हीं कारणों से अपने परिवार के साथ पर्याप्त समय नहीं बिता पा रहे हैं, तो यह भी आपको तनाव की चपेट में ला सकता है।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • आर्थिक तंगी भी आपको तनावग्रस्त बना सकती है क्योंकि बदलती जीवनशेली की जरूरत के हिसाब से इंसान की मांग पूरी न होने पर वह तनाव का रूप ले लेती है।
  • कभी-कभी अनचाही घटनाओं के कारण भी तनाव बढ़ जाता है। जैसे आपका अपना किसी ख़ास जब आपसे दूर हो जाता है तो उस दुःख से उभर पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। जो धीरे-धीरे मानसिक तनाव का रूप ले लेता है |
  • दोस्तों की कमी, शिकायत करने वाले लोग या फिर parents की डांट की वजह से अक्सर तनाव हो सकता है।

तनाव से बचने के उपाय :


1. डॉक्टर की सलाह लीजिये :

doctor appointment-stayreading

आपको बता दें कि तनाव दूसरी और भी मानसिक और शारीरिक समस्याओं का कारण बन सकता है। इसलिए आपको मोवैज्ञनिक डॉक्टर की सलाह लेना आवश्यक है। आप जो भी कुछ महसूस करते हैं, उसे डॉक्टर को बताना बेहद जरूरी है। ताकि डॉक्टर अपने बेहतर तरीके से आपके डिप्रेशन का इलाज कर सके। इसके अलावा आपकी lifestyle में जो भी बदलाव आये और आप तनावग्रस्त रहकर जो भी सोचते हैं, उसे भी डॉक्टर के साथ मिलकर जरूर साझा कीजिये

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • नियमित रूप से थोड़ी देर व्यायाम जरूर करें| इससे आपके दिमाग के सोचने की क्षमता बढ़ेगी | जिससे आपका मूड तरोताज़ा रहेगा और ऐसी चीज़ों से भी समाधान मिलेगा जिसके कारण आपको तनाव हो |
  • अपने घरवालों से प्यार से पेश आएं, अपने चाहने वाले के साथ समय बिताएं | अपने आस पास के लोगों के साथ घुल मिलकर रहें । ऐसा करने पर आपके Stress level में काफी अंतर आएगा ।
  • जिन अच्छी चीज़ों के बारे में आप सोच भी नहीं सकते , वे जब होने लगती हैं तो आपके दिमाग की स्थिति में काफी सुधार होने लगता है। जो आपको तनाव से कोसों दूर रखने में मदद करती है। इसलिए हमेशा अपने आप को सकारात्मक रूप में रखें।





2. सकारात्मक विचार लाने की कोशिश करें:

Young man is looking at the sunrise.

जब भी आपके अंदर नकारात्मक सोच और व्यवहार आये , जो आपको सोचने पर मज़बूर कर दे, तो सबसे पहले आप जिस जगह पर भी बैठे हैं। वहां से तुरंत उठ जाइए। क्योंकि अगर आप वहीँ बैठे बैठे यह सब सोचने लगेंगे तो आप गहरे तनाव का शिकार हो सकते हैं। इसके लिए आप अपनी सोच को कहीं ओर divert करने की कोशिश कीजिये। यह जरूरी नहीं है कि आप सभी अनचाही परिस्थिति को अपने काबू में कर ही लेंगे , लेकिन आप उन परिस्थितियों से निपटने और सोचने के तरीकों को जरूर काबू कर सकते हैं।आप अपनी कोई वास्तविक सोच के जरिये अपने नकारात्मक विचार को बाहर निकाल सकते हैं। लेकिन इस दौरान आपको खुद को सिर्फ और सिर्फ अपनी मनचाही activities में व्यस्त रखना है। फिर देखिये कमाल ! देखते ही देखते आप अपने सोच और विचार में जरूर बदलाव पाएंगे।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • याद रखना कैसी भी परिस्थितियों में, एक मजबूत व्यक्ति के रूप में खुद को साबित करना, सफल होने के लिए, समस्याओं को हल करने के लिए संभव है।
  • जब भी आप तनाव में हों तो आप अपना Favourate music सुन सकते हैं क्योंकि Music हमारे mind को शांत कर देता है और हमारे boring mood को भी Entertain कर देता है।
  • तनाव के समय आप motivational books पढ़ सकते हैं जो आपको शिक्षा के साथ-साथ जीवन में आगे बढ़ाने की सीख भी देती हो।

3. भरपूर नींद लीजिये :

Portrait of a woman sleeping on the bed at home

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में मनुष्य खुद को भरपूर नींद नहीं दे पाता। जिससे वह तनावग्रस्त भी हो सकता है। इसलिए आपके पूरे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त नींद लेना बेहद जरूरी है। अगर आपको नींद आने में परेशानी होती है तो आप उस दौरान कोई Relaxation music भी सुन सकते हैं। आप यकीन मानिये इससे आपको नींद अवश्य ही आएगी , क्योंकि Relaxation music आपकी सभी चिंताओं से दूर करने में मददगार साबित होता है। अगर आपको Relaxation Music के और भी अन्य फायदे जानने हैं तो आप नीचे दी हुई link पर click करके हमारे Relaxation music वाले article पर जा सकते हैं

http://stayreading.com/relaxation-music-benefits-in-hindi/

आपको पता है नींद की कमी से आपको चिड़चिड़ापन और बेचैनी जैसी समस्या भी उत्पन्न हो सकती है। जो कि डिप्रेशन या तनाव का एकमात्र लक्षण है। इसलिए आपको पूरे 24 घंटों में सें लगभग 6 घंटे सोने के लिए अवश्य निकालने हैं।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • एक अच्छी और पूरी रात की नींद सकारात्मक उर्जा को प्राप्त करने के लिए बहुत जरूरी है। अध्ययनों से पता चला है कि रोज 7 से 8 घंटे सोने वाले लोगों में अवसाद के लक्षण कम होते हैं।
  • प्रतिदिन कुछ समय ध्यान जरूर लगाएं। जो आपको मन की शांति प्रदान करती है। इससे मानसिक, भावनात्मक व शारीरिक राहत महसूस होती है।
  • ध्यान लगाने से हमें अपनी कमजोरियां और मजबूती दिखाई देती है जो खुद को बेहतर बनाने में सहायक होती है। ध्यान करने से हमें एक सुकून भी मिलता है जो मन को खुशनुमा बना देता है।





4. दोस्तों और परिवार को समय दीजिए :

Portrait of Happy Family In Park

जब भी आप Depression में में होते हैं, तो ऐसे में आप अपना ज्यादा से ज्यादा समय चार दीवारी के अंदर बंद करके अवश्य बिताते होंगे। ऐसे हालात में आप खुद को बाहर निकलने के बारे में सोचते भी नहीं होंगे। ऐसे में जरुरी है कि आप खुद को अलग दुनिया में शामिल न करें । आप बाहर जाएँ और अपने मन को बहलाने के लिए वह सब कीजिये जो आपको करने में मज़ा आता हो। इसके साथ-साथ आप ऐसे समय में कोशिश कीजिये कि अपने friends और family के साथ भरपूर समय बिताएं। इससे आपका focus उन नकारात्मक सोच और विचारों से दूर हो जायेगा। जिससे आपके तनाव में कमी आ जाएगी।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • अत्यधि‍क तनाव के समय किसी से मिलने जुलने या बातें करने का बिल्कुल मन नहीं करता। लेकिन यकीन मानिए यह तरीका आपको डिप्रेशन में जाने से बचा सकता है।
  • जब हम अपने अन्दर के दर्द को दूसरों के सामने व्यक्त करते हैं तो हमारा मन काफी हल्का महसूस करता है और तनाव काफी हद तक कम हो जाता है।
  • अपनी भागदौड़ भरी जिंदगी में अपने लिए वक्त निकालें और अपनी चिंता के कारणों को ढूंढ कर उसे दूर करें और जीवन की छोटी- छोटी सफलताओ से उत्साह प्राप्त करें। यह आपके तनाव को दूर करने में काफी मदद करेगा।





5. किसी भी तरीके का नशा बंद करें :

sad and drink-stayreading

अगर आपको यह लगता है कि डिप्रेशन के दौरान शराब, सिगरेट या अवैध ड्रग्स का इस्तेमाल करने से डिप्रेशन दूर होता है , तो आप गलत बिलकुल हैं। यह आपके सोचने की क्षमता को कुछ समय के लिए बंद कर देता है और आपको लगता है कि मैं इससे तनावमुक्त हो गया हूँ। लेकिन असल में इन नशीले पदार्थ का इस्तेमाल करना आपके Depression level को और भी ज्यादा बढ़ा सकता है

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • तनाव में कई बार लोग नशे का सहारा ढूंढते हैं। जिनमे वे शराब और स्मोकिंग करने की गन्दी लत लगा लेते हैं । इसलिए ऐसे हालात में नशीले पदार्थ का सेवन बिलकुल मत लीजिये। हम आपको बता दें कि कई नामी हस्तियों की कहानी नशे में ही खत्म हो गई।
  • यदि आपको यह छोड़ने में मदद की आवश्यकता हो, तो किसी स्थानीय नशा मुक्ति केंद्र से संपर्क करें।
  • नशीले पदार्थों के सेवन से हमारे शरीर में happy hormone निकलता है जो कुछ समय के लिए हमारे तनाव को दूर कर सकता है। लेकिन इसके कारण हमारे शरीर में natural रूप से happy hormone निकलना कम हो जाता है और हमें नशे की लत भी लग जाती है।

6. पौष्टिक भोजन ही खाएं:

indian healthy food-stayreading

आपको पता है पौष्टिक भोजन लेने से आपके शरीर को जरुरी पोषक तत्व मिलते हैं, जिससे आपका शरीर चुस्त और दुरुस्त रहता है और आपने यह सुना तो होगा ही कि अच्छा शरीर ही अच्छे दिमाग की नींव रखता है। इसलिए पोषण से भरपूर खाना खाएं, जिसमें कार्बोहाइड्रेट के साथ-साथ प्रोटीन और मिनरल भी भरपूर हों, जैसे कि मौसमी फल ,ओट्स, गेहूं आदि अनाज, अंडे, दूध-दही, पनीर, हरी सब्जियां जिनमे बीन्स, पालक, मटर, मेथी आदि शामिल हैं । एक रिसर्च के मुताबिक, ऐसे लोग जो सही ढ़ंग से और सही मात्रा में खाना नहीं खाते। ऐसे लोग ज्यादातर डिप्रेशन की भावना को महसूस करते हैं

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • जब भी आप तनाव महसूस करें तो आप बाहर जाएं। बाहर के माहौल को अनुभव करें। मन को अच्छी जगह पर लगाएं जिससे आपका मानसिक तनाव कम हो सके |
  • पौष्टिक भोजन लेने से आपके शरीर को जरुरी पोषक तत्व मिलते हैं, जिससे आपका शरीर चुस्त और दुरुस्त रहता है और आपने यह सुना तो होगा ही कि अच्छा शरीर ही अच्छे दिमाग की नींव रखता है।
  • एक रिसर्च के मुताबिक, ऐसे लोग जो सही ढ़ंग से और सही मात्रा में खाना नहीं खाते। ऐसे लोग ज्यादातर डिप्रेशन की भावना को महसूस करते हैं।





7. योगा कीजिये :

yoga-stayreading

क्या आपको पता है योगा के जरिये हम अपने तनाव से मुक्त हो सकते हैं , जिनमे Jogging , Swimming और कई तरह के Outdoor games भी शामिल हैं । इसके साथ-साथ आप सूर्योदय के समय सूर्य नमस्कार प्राणायाम भी कर सकते हैं । सूर्य नमस्कार एक Complete Excercise हैइसे करने से शरीर के सभी हिस्सों की Excercise हो जाती है और इससे शरीर को ऊर्जा और विटामिन डी भी मिलता है। जिससे मानसिक तनाव को दूर करने में मदद मिलती है ।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • योग तनाव को समाप्त करने व हंसमुखता को बढ़ाता है।
  • तनाव दूर करने का सबसे कारगर तरीका है नियमित ध्यान और योग करना।
  • सुबह जल्दी उठने की आदत डालें। यह आपको तनाव मुक्त और कई अनेक फायदे भी देगा।

8. खुद को रखिए व्यस्त :

busy -stayreading

जब भी आपको लगे कि आपके दिमाग में फालतू ऋणात्मक विचार आ रहे हैं तो इस दौरान आप जरा संभल जाइये। अक्सर यह आप ही के साथ नहीं बल्कि अन्य सभी के साथ होता है। इसका मुख्य लक्षण खाली बैठने से है। वो तो सुना ही होगा कि खाली दिमाग शैतान का घर होता है। इसलिए ऐसे हालात में आप खुद को व्यस्त रखिये। जिससे आपका मन बहला रहे। पूरी दिनचर्या में आपको क्या करना है इसकी एक लिस्ट बना लीजिये । इससे आपका तनाव कम हो जाएगा और आप सही समय पर अपना कार्य भी पूरा कर पाएंगे। अगर आपको कार्य का भार अधिक लगता है तो आप अपने कार्यों को छोटे-छोटे भागों में बांट सकते हैं इससे आपके ऊपर से कार्य का दबाव दूर हो जायेगा और आप ध्यानपूर्वक होकर कार्य को पूरा भी कर पाएंगे। जिससे आपको motivation मिलेगा और आपका दिमाग सकारात्मक विचारों की ओर divert हो जायेगा।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • सामाजिक रूप से सक्रिय रहना आपको व्यस्त भी बनाए रखेगा और तनाव के कारण की ओर से आपका ध्यान भी बंटेगा। इससे आप नकारात्मकता के शि‍कार न होकर अपनी ऊर्जा का सही उपयोग कर पाएंगे।
  • कार्य के साथ आपको अपनी hobby पर भी ध्यान देना चाहिए। यह हमारे अन्दर जीने की इच्छा को बनाये रखती है और हमारे अन्दर Positivity लाती है।
  • जब भी आप तनाव महसूस करें तो उस समय आप Comedy movies या फिर Serials देख सकते हैं या फिर Youtube पर अपनी मनपसंदीदा वीडियो देख सकते हैं जो आपको happy feel करने में मदद करेगी।





9. अपनी गलतियों से सीखें और आगे बढ़ें :

self motivated-stayreading

अक्सर लोगों के साथ ऐसा होता है कि अगर उनसे किसी भी तरह की कोई गलती हो जाए तो यह उनके तनाव का कारण बन जाती है। वह रात दिन सोचते रहते हैं कि मैंने यह गलती कैसे और क्यों कर दी। अगर आपके साथ भी ऐसा ही कुछ होता है तो आप उन गलतियों पर तनाव और चिंता करने की बजाय उन गलतियों से सीख लीजिए । इसके साथ साथ आप अपने आप को motivate भी करते रहिये और अपने दिमाग को समझाइये कि इस दुनिया में हर इंसान से गलती होती रहती है पर उन गलतियों के कारण मुझे गिरना नहीं है बल्कि उन्हें एक चुनौती के रूप में लेकर मुझे आगे बढ़ना है।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • लोगों की मदद करना एक बहुत ही अच्छा गुण है। अगर जब भी आप तनाव में होते हैं तो आप अगर किसी गरीब या जरूरतमंद व्यक्ति की मदद जरूर करें इससे आपका तनाव काफी हद तक कम हो जाएगा।
  • अगर आपको जब भी लगता है कि आप तनाव में हैं तो आप तब इस तनाव से निकलने के लिए अपने दोस्तों की मदद ले सकते हैं।
  • अपनी गलतियों पर तनाव और चिंता करने की बजाय उन गलतियों से सीख लीजिए ।

10. लक्ष्य पर ध्यान दीजिये :

focus on goal-stayreading

अगर आप इधर-उधर के ऋणात्मक विचारों को छोड़कर सिर्फ अपने लक्ष्य पर ध्यान देंगे तो यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा। ऐसे में आप किसी भी कार्य को अच्छे ढंग से पूरा कर पाएंगे और अपना सारा ध्यान एक ही जगह पर केंद्रित कर पाएंगे । जिससे आपके दिमाग को ऋणात्मक विचारों को सोचने का मौका ही नहीं मिलेगा और ऐसी स्तिथि में तनाव होने की संभावनाएं नहीं होगी।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • ऋणात्मक विचारों को छोड़कर आप सिर्फ अपने लक्ष्य पर ध्यान दीजिए।
  • अपने दिमाग को ऐसा व्यस्त रखिये जिससे आपके दिमाग को ऋणात्मक विचारों को सोचने का मौका ही न मिले।
  • तनाव में आप किसी भी कार्य को अच्छे ढंग से पूरा कर पाएंगे और अपना सारा ध्यान एक ही जगह पर केंद्रित कर पाएंगे। 





11. अपने आप को समझें :

thinking-stayreading

अक्सर यह देखा जाता है कि लोग अपनी जिंदगी दूसरों को खुश करने के लिए जीते रहते हैं। इसमें कोई भी रिश्ता शामिल हो सकता है। इन रिश्तों में जब असफलता मिलती है तो वह अपनी जिंदगी को तनाव की दुनिया में डूबा देते हैं । इसलिए एक चीज़ याद रखिये कि इस दुनिया में आपका कितना ही प्यारा रिश्ता क्यों न हो सबको खुश करना संभव नहीं है इसलिए अपनी संतुष्टि पर ध्यान दें और अपने आप को समझें ।क्योंकि आपसे बेहतर इस दुनिया में दूसरा कोई नहीं समझ सकता।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • खुद को सकारात्मक बनाएं और प्रोत्साहित करें। खुद से प्रेम करें और हर चीज को सकारात्मक नजरिए से देखें।
  • समय-समय पर अपने संबंधियों से मिलने का मौका निकालें। इससे आपका मन खुश रहेगा।
  • अपनी पुरानी भूलों और गलतियों पर शिकवा करने और अनिश्चित भविष्य के बारे में चिंता करने का कोई मतलब नहीं है। जब यह आपके नियंत्रण में ही नहीं है तो अपनी भावनाओं को ख़राब करने से कोई फायदा नहीं। इसलिए अपने आज पर फोकस करें ।

12. सुबह जल्दी उठने की आदत बनाइये :

wake up in morning-stayreading

तनाव कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका है कि आप सुबह जल्दी उठें। आपने देखा होगा कि देर तक सोने की आदत आपको कई मुश्किलों में डाल सकती है। जैसे : देर से उठने से काम का pending होना , ऑफ़िस देर से पहुँचना जिसके कारण आपको कई तरह की परेशानियां हो सकती है और यही work routine आपको डिप्रेशन की ओर ले जा सकता है। इसलिए अगर आप नियम के साथ सोएंगे तो खुद ब खुद आपको सुबह जल्दी उठने की आदत बन जाएगी और आपका time management भी अच्छे से हो जाएगा। आपको यह छोटा सा कदम आप में एक बड़ा बदलाव ला सकता है और आपको तनावमुक्त कर सकता है।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • तनाव कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका है कि आप सुबह जल्दी उठें।
  • देर से उठने पर आपका काम pending हो सकता है जिसके कारण आपको कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। 
  • अगर आप नियम के साथ सोएंगे तो खुद ब खुद आपको सुबह जल्दी उठने की आदत बन जाएगी और आपका time management भी अच्छे से हो जाएगा। 





13. अपने लिए समय निकालें:

painting-stayreading

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में आज किसी के पास भी समय नहीं है। इस technology भरे नए दौर में इंसान के अंदर धैर्य मानो ख़त्म ही हो गया है। वह सब कुछ जल्दी पा लेना चाहता है और आजकल आपने देखा होगा कि ज्यादा से ज्यादा लोग खाली समय में भी अपना समय Smartphone चलाने में बर्बाद कर देते हैं । जिनसे उनकी सोचने समझने की शक्ति कम होने लगती है और फिर वह अपने लिए Time ही नहीं निकाल पाते । फिर बाद में वह यही सोचते हैं कि मेरे पास तो खुद के लिए time ही नहीं है और यही सोचते सोचते खुद को depression का शिकार बना लेते हैं । इसलिए अपने लिए समय निकालें और उन मनपसंदीदा कार्यों को कीजिये जिनसे आपको ख़ुशी मिलती हो ।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • अपने अंदर की feeling अपनों के साथ share कीजिये। जब हम अपने अन्दर के दर्द को दूसरों के सामने व्यक्त करते हैं तो हमारा मन काफी हल्का महसूस करता है और डिप्रेशन काफी हद तक कम हो जाता है।
  • काम की भागदौड़ के बीच अपने मौज-मस्ती के लिए समय जरूर निकालें। इससे आपका मन खुश रहेगा।
  • किसी ने बहुत ही सही बात कही है “ख़ुशी के पल को लोगों के साथ शेयर करके वह चार गुना और बढ़ जाती है और अपने दुःख को लोगों के साथ बांटने पर उसकी value zero हो जाती है। इसलिए सुख हो या दुःख उसे अपने लोगों के साथ जरुर शेयर करें।

14. वह कार्य कीजिये जिनसे आपको ख़ुशी मिलती हो :

read book-stayreading

हमें जो भी कार्य करना अच्छा लगता है वह जरूर करना चाहिए। फिर चाहे वह डांस करना हो , पेंटिंग बनाना हो , म्यूजिक सुनना हो या फिर कविताएं लिखना हो आदि । आपके द्वारा निकाला गया कीमती समय आप यहां पर उपयोग कर सकते हैं जो आपको तनाव मुक्त रहने के लिए काफी मदद करेगा। साथ ही साथ आप हो सके तो सफल लोगों की biography पढ़कर खुद को motivation दे सकते हैं। इससे आपको यह फायदा होगा कि आपके विचारों में कई सारे परिवर्तन आएंगे और आप यह भी जान सकेंगे कि सफल लोगों की जिंदगी में भी किस तरह की दिक्कतें आईं और उन्होंने हार न मानते हुए खुद को इस काबिल बनाया। जो आपको तनावमुक्त और motivation प्रदान करेगा।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • आपको जिस कार्य को करने से ख़ुशी मिले , वह करें। यदि आपको घूमना पसंद है, चित्रकला, भोजन बनाना, पढ़ना अथवा ऐसा कोई भी कार्य करना अच्छा लगता है, वह जरूर करें।
  • अपने मन को नकारात्मक विचारों से हटाने के लिए कोई मोटिवेशनल वीडियो अथवा कोई रोमांटिक संगीत सुन सकते हैं ।
  • सदैव मुस्कुरायें ! प्रयास करें उस मुस्कान को चेहरे से हटने न दें।





15. आराम के लिए समय निकालें :

Portrait of male resting at home on his couch

काम की भाग दौड़ में समय न मिलने के कारण आप शारीरिक और मानसिक तौर पर काफी व्यस्त रह सकते हैं। जो आपको तनाव की चपेट में ला सकता है और साथ ही शरीर में कई तरह के अन्य प्रभाव हो सकते हैं। इसलिए काम के दौरान थोड़ी थोड़ी देर में आपको ब्रेक लेना चाहिए। इससे आपका दिमाग समय के दौरान refresh होता रहता है। ब्रेक के दौरान आप जी भर के पानी पीजिये और बाहर जाकर ताजी हवा लीजिये । इससे आपका दिमाग ऋणात्मक विचारों की तरफ केंद्रित नहीं होगा ।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • चलना भी तनाव को दूर करने में मदद करता है। उदहारण के लिए आप पार्क में जाकर टहल सकते हैं।
  • दिमाग में एक साथ बहुत सारे काम होने से आराम करना मुश्किल हो जाता है और आप लगातार कभी न खत्म होने वाले काम करते रहते हो। इसीलिए कामो को बाटकर उन्हें पर्याप्त समय देने की कोशिश करे और काम के बीच थोड़ा सा आराम भी करते रहें।
  • ज्यादा सोने या नींद न लेने से भी तनाव होने लगता हैं। ऐसे में अपने सोने के समय को निर्धारित करें।

16. भविष्य कि चिंता न करें :

dont think about future-stayreading

अधिकतर लोगों को अपने भविष्य कि बहुत चिंता होती है। भविष्य कि व्यर्थ बातें आपको कई तरह की परेशानियों में डाल देती है जो तनाव का मुख्य कारण हो सकता है। इसलिए आप वर्तमान में रहकर ही इसके हर एक पल को अच्छे से जीना चाहिए। आज जो भी कुछ चल रहा है हमें सिर्फ उस पर फोकस करना चाहिए। यकीन मानिये अगर आपका आज अच्छा होगा तो भविष्य भी अच्छा ही होगा। क्योंकि वर्तमान की जीवनशैली ही आपका भविष्य तय करती है। इसलिए आप सिर्फ आज को बेहतर बनाने कि कोशिश करें।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • अगर तनाव को सही समय पर पहचान लिया जाए तो इससे निकलना काफी आसान हो जाता है ।
  • अपनी सोच को सकारात्मक रखें इससे आपको कभी भी तनाव नहीं होगा। आपके जीवन में कोई भी कठिन परिस्थिति आये तो उससे सकारात्मक सोच के साथ लड़ें।
  • अपने जरुरी कार्यों को सबसे पहले पूरा करें अन्यथा वे बाद में तनाव का कारण बन सकते हैं।





17. अपनी आदतों को बदलें :

listen song-stayreading

यकीन मानिये आपके जीवन में बदलाव नहीं होगा जब तक कि आप खुद को बदलना नहीं चाहेंगे। जब भी आप तनाव की चपेट में आते हैं तो उस समय आप ऐसी उम्मीद बिलकुल मत रखिये कि कोई चमत्कार होगा और आपका जीवन बदल जायेगा। इसलिए अपनी आदतों में थोड़ा बदलाव कीजिये। मोटिवेशनल वीडियो व फिल्म देखिये , मन बहलाने के लिए Evergreen songs सुनिए , सामाजिक और सांस्कृतिक कामों में भाग लीजिये , नशीली चीजों से दूर रहिये आदि ! आप विश्वास कीजिये ये सभी सकारात्मक चीजे आपको तनाव से बाहर निकलने में बहुत मदद करेगी

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • आपको जिस काम में रूचि हो उसी काम को करें।
  • जब कोई बात हमें सोचने पर मज़बूर कर देती है तब हमें तनाव का अहसास होने लगता है। इसलिए अत्यधिक सोच के कारण यदि आप किसी कार्य पर ध्यान नहीं लगा पा रहे हैं तो फालतू की tension मत लीजिये। बस अपने आपको उस परिस्तिथि में सकारात्मक रखें । इसका सबसे अच्छा उपाय है अपने आप को व्यस्त रखना और उन बातों को न सोचना जिससे आपको तनाव हो रहा हो ।
  • अक्सर किसी डर के कारण भी व्यक्ति तनाव में चला जाता है। ऐसे में अपने डर के कारणों को अपनों के साथ जरूर शेयर करें। इससे आपका दिमाग रिलैक्स होगा । इसके साथ साथ आप संगीत सुनकर, व्यायाम करके, किताबें बढ़कर अपने डर पर काबू पाने की कोशिश कर सकते हैं ।

18. मेडिटेशन करता है तनाव को दूर:

meditation-stayreading

दिनभर काम के बीच, ट्रैफिक में फंसते वक्त या और किसी कारणों से हम तनाव में आ सकते हैं जिसकी वजह से हमारा शरीर परेशान होकर खुद-ब-खुद तनाव की स्थिति में आ जाता है। ऐसे हालातों में मेडिटेशन भी एक दवाई की तरह काम करता है जो आपको तनाव मुक्त कर सकता है। मेडिटेशन करने से हमारा शरीर रिलैक्स हो जाता है। मेडिटेशन हमारे शरीर को एक शांत स्थिति में लाता है जिसकी मदद से शरीर खुद को automatic repair करता है और तनाव से होने वाले शारीरिक खतरों से बचाता है। कई शोधों के मुताबिक मेडिटेशन के नियमित अभ्यास से आपके शरीर को तनाव से पूरी तरह से मुक्ति मिल सकती है।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • तनाव के कारण अक्सर हमारे हृदय की धड़कन बढ़ जाती है, इसलिए जब भी आप तनाव में हो तो खुली हवा में जाकर लंबी सांस लें और छोड़ें। इससे धड़कन सामान्य हो जायगी जिससे आपका तनाव भी कम होने लगेगा ।
  • अपनी सोच को कभी भी नकारात्मक न रखें अन्यथा आप किसी भी समस्या का समाधान नहीं कर सकते और तनावग्रस्त हो सकते हैं।
  • अगर आप daily व्यायाम करते हैं तो इससे आपका तनाव को कम करने में बहुत मदद मिलती है क्योंकि व्यायाम के समय हमारी मांसपेशियों की excercise होती है और उन्हें आराम भी मिलता है।





19. घूमने की Planning बनाएं :

holidays-stayreading

अगर आप लम्बे समय से तनाव की चपेट में हैं तो घूमना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। घूमने से हमारी जिंदगी में एक बदलाव आता है जो हमारी negativity को दूर करता है और हमारे विचार को सकारात्मक बनाता है। इसलिए समय निकालकर कहीं घूमने की योजना जरूर बनाएं। जब आप अपने रोज़ के इस माहौल से बाहर निकलेंगे और एक नए माहौल में जाएंगे तो यह आपके अंदर एक नई ऊर्जा प्रदान करेगा और आप अपने तनाव को दूर करने में सक्षम हो जाओगे।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें :

  • कहते है कि घर से बाहर निकल कर मन काफी बदल जाता है। अगर आप ज्यादा तनाव में है तो रोजाना सुबह-शाम walk पर जरूर जाएँ और अपने mind को fresh करें।
  • हमारी lifestyle हमें succes बना सकती है तो हमें असफल भी कर सकती है। इसलिए हमें अपनी दिनचर्या को सही ढंग से manage करना चाहिए। जिससे तनाव हमसे कोसों दूर रहे।
  • सुबह उठने के बाद व्यायाम अवश्य करें। याद रखिये जब आपका तन खुश रहेगा तो मन भी खुश रहेगा।

इन्हे जरूर पढ़िए :

परीक्षा के समय कैसे रहें तनाव से दूर !

सुबह जल्दी कैसे उठें !

अस्वस्थता के कारण कहीं आप भी अपने कार्यों को नहीं टाल रहे !

ऑफिस में ऐसे रखें अपने गुस्से पर नियंत्रण !

खुद पर निर्भर रहना सीखें !


यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी ID है :blog.stayreading@gmail.com ! article पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे और आपको हमारी यह Post कैसी लगी. नीचे दिए गए Comment Box में जरूर लिखें. यदि आपको हमारी ये Post पसंद आए तो Please अपने Friends के साथ Share जरूर करें. और हाँ अगर आपने अब तक Free e -Mail Subscription activate नहीं किया है तो नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up जरूर करें.

Happy Reading !

Tags

About the author

StayReading.com

StayReading.com का Main Motive ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करना और आगे बढ़ने में Help करना है। Inspirational और Motivational Quotes का अनमोल संग्रह है, जो आपको प्रेरित करेगा की आप अपने जीवन को नये अंदाज में देखें। हर Quotesऔर Stories का संग्रह आपके नज़रिए को व्यापक करती है और बताती है की पूर्ण इंसान बनने का मतलब क्या होता है। यह हमे सिखाती है की हम भी अपने जीवन में ज़्यदा प्रेम, साहस और करुणा कैसे हासिल कर सकते हैं।

1 Comment

Click here to post a comment

Sponsors links

FREE Email Subscription