All Posts - सभी पोस्ट्स Chanakya Neeti - चाणक्य नीति Information and Knowledge - ज्ञान की बातें Self Improvement खुद को बेहतर बनाने के टिप्स छोटी-छोटी मगर बड़े काम की बातें

चाणक्य से सीखिए Business tips !

दोस्तों ! Business तो आज के समय में हर कोई करना चाहता है क्योंकि हर कोई चाहता है कि अपनी भी life ऐश-ओ -आराम से हो। अपनी सारी सुख सुविधाएं पूरी हो। इसी तरह Over-Excitement के साथ हर कोई Business तो start कर देता है लेकिन उनमे से कुछ लोगों का ही Business Success हो पता है। क्योंकि बिना Principle और Planning के Business की Growth कर पाना Impossible है। इसलिए जो लोग बिना Principle और Planning के business शुरू कर देते हैं, उन्हें असफलता का सामना करना ही पड़ता है।

दोस्तों ! आपने चाणक्य का नाम तो सुना ही होगा जिनकी नीतियां विश्वभर में विख्यात है। चाणक्य एक ऐसी महान अर्थशास्त्री, कुशल राजनीतिज्ञ और चतुर कूटनीतिज्ञ थे , जिन्होंने अपनी विद्वत्ता और क्षमताओं के बल पर भारतीय इतिहास की धारा को ही बदल दिया। इतनी सदियां गुजरने के बाद भी चाणक्य की नीतियों को आज भी Business में Success पाने के लिए लगाया जाता है। आचार्य चाणक्य के द्वारा बनाई गई नीतियां आज के दौर में भी उतनी उपयोगी है जितना की पहले हुआ करती थीं। चाणक्य द्वारा बताए गए कुछ सिद्धांत जिनको स्वीकार करने पर आप भी एक सफल Businessman बन सकते हैं। तो आइए दोस्तों ! आज हम आपको Business Start करने के लिए चाणक्य की ऐसे सिद्धांत बताएंगे , जिन्हे अन्य प्रमुख कंपनियों ने भी इसी सिद्धांत को अपनाकर उंचाईयों के शिखर पर पहुँच गई। 


1. बात करने का तरीका :

Two smiling businessmen talking in the office

चाणक्य नीति के इस सिद्धांत से यह पता चलता है कि किसी भी Business को start करने का पहला step यही है कि सबसे पहले अपने Way of talk को improve किया जाए। जो आपके Business में काफी ज्यादा कारगर साबित होगा। चाणक्य के अनुसार तीखा और कड़वा बोलने पर आपका व्यापार घाटे में जा सकता है

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • किसी भी Business को start करने का पहला step यही है कि सबसे पहले अपने Way of talk को improve किया जाए ।
  • तीखा और कड़वा बोलने पर आपका व्यापार घाटे में जा सकता है।
  • दूसरों की गलतियों से ही सीखो। खुद पर प्रयोग करके सीखने की गलती करोगे तो आपकी आयु कम पड़ जाएगी। 





2. जोखिम और सकारात्मक सोच का सिद्धांत :

positive think-stayreading

किसी भी व्यवसाय को शुरू करने के लिए चाणक्य ने सकारात्मक सोच रखने की सलाह दी है। कोई भी नया काम शुरू करने से पहले हमारी सोच स्थिर जरूर रहनी चाहिए। नकारात्मक सोच लेकर हम ज्यादा दूर तक नहीं जा सकते । काम को शुरु करने से पहले समय, जगह और आपकी मदद कौन कर सकता है इसकी जांच एक बार जरूर कर लें। जब भी आप कोई नया काम शुरू करने जाए, तो इसकी सूचना किसी बाहर वाले को कभी ना दें। चाणक्य के अनुसार व्यापार को सफल बनाने के लिए कुछ कड़े और अनिश्चित फैसले भी लेने पड़ेंगे। जब तक आप जोखिम नहीं लेंगे तब तक सफलता नहीं मिलेगी।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • व्यवसाय क्षेत्र में अपनी सोच को सकारात्मक रखिये।
  • कार्य को शुरु करने से पहले समय, जगह और आपकी मदद कौन कर सकता है इसकी जांच एक बार जरूर कर लें।
  • व्यापार को सफल बनाने के लिए कुछ कड़े और अनिश्चित फैसले भी लेने पड़ेंगे। जब तक आप जोखिम नहीं लेंगे तब तक सफलता नहीं मिलेगी।





3. जिम्मेदारियों को समझने का सिद्धांत :

risk thought-stayrading

अगर आप अपना एक सफल व्यवसाय चाहते हैं तो चाणक्य के व्यवसाय सिद्धांत के अनुसार आपको अपनी जिम्मेदारियां बहुत अच्छे से समझनी होगी। उनमें सबसे पहली आपकी जिम्मेदारी होती है कि आपके जितने भी कर्मचारी हैं उन पर आपको सबसे ज्यादा ध्यान देना है उन्हें यदि कोई समस्या है तो उसका समाधान आपको जल्द से जल्द करना है। ताकि व्यवसाय की प्रगति पर किसी भी तरह का बाधा न हो।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • एक सफल व्यवसायी बनने के लिए आपको जिम्मेदारियों को अच्छे से समझना पड़ेगा। 
  • यदि व्यवसाय में कहीं समस्या आती है तो उसका समाधान आपको जल्द से जल्द करना होगा ।
  • कुछ लोग हालात को बदलने का प्रयास नहीं करते। उनका जीवन जैसे चल रहा है, बस उसी को जीते चले जाते हैं। परन्तु जो व्यक्ति प्रगति चाहता है, ऊपर उठना चाहता है वह अपना सब कुछ दांव पर लगाने से नहीं डरता।  

4. कार्य के लिए अनुकूल :

sucess work-stayreading

चाणक्य के अनुसार जब भी आप कोई नया व्यवसाय शुरू करने जा रहे हैं तो इससे पहले आपको कुछ चीज़ों की पुष्टि जरूर कर लेनी चाहिए।  जैसे जिस काम को आप आरंभ करने जा रहे हैं, क्या आप वाकई उस कार्य के लिए अनुकूल व्यक्ति हैं? क्योंकि यदि आप उसे सही तरीके से नहीं समझ सकते , तो आप अपना दूसरा विकल्प खोज सकते हैं। इसी में ही आपकी सबसे बड़ी सफलता है, क्योंकि फिर आप उस कार्य की तरफ जाएंगे जिसको करने में आपका मन होगा और जिस कार्य में इंसान का मन लग जाए। फिर वह कार्य आसान लगने लगता है ।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  •  आप जिस भी कार्य को आप आरंभ करने जा रहे हैं, तो आप एक बार जरूर याद रखिये कि जो कार्य आप करने जा रहे हैं क्या वाकई में आप उस कार्य के लिए अनुकूल हैं?
  • सबसे बड़ी सफलता वहीं है जहाँ आपका मन लगे और जिस कार्य में इंसान का मन लग जाए। फिर वह कार्य आसान लगने लगता है । 
  • हमें अपने अतीत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए और न ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए क्योंकि एक विवेकवान व्यक्ति ही हमेशा वर्तमान में जीते हैं। 





5. कार्य के प्रति जोश का जागरूक रखना :

Giving the newbies some design advice

चाणक्य के इस सिद्धांत के अनुसार व्यवसाय को आरंभ करते समय हर किसी के अंदर उस कार्य के प्रति जोश होता है। किसी भी नए कार्य में मेहनत भी अधिक लगती है। इसके साथ-साथ शारीरिक के साथ-साथ मानसिक क्षमता भी लगती है। ऐसे में सेहत का बिगड़ना स्वाभाविक हो जाता है। चाणक्य के अनुसार कार्य करते समय सेहत का ख्याल रखना जरुरी है तभी आप अपने कार्य को बेहतर ढंग से कर पाएंगे और नुकसान से बचे रहेंगे। यदि आप शादीशुदा हैं तो नया काम करने से पहले अपने जीवनसाथी की सलाह जरूर ले लें । यदि आपको लगे कि आपका साथी संबंधित कार्य के प्रति जानकारी नहीं रखता है, तो कम से कम उन्हें उस कार्य की सूचना अवश्य दें। क्योंकि आप दोनों का साथ जन्मों-जन्मों का है। 

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • किसी भी कार्य को आरंभ करते समय आपके अंदर उस कार्य के प्रति जोश होना चाहिए । 
  • कार्य करते समय सेहत का ख्याल रखना जरुरी है तभी आप अपने कार्य को बेहतर ढंग से कर पाएंगे । 
  • यदि आप शादीशुदा हैं तो नया काम करने से पहले अपने जीवनसाथी की सलाह जरूर ले लें ।

6. अपने Secrets को Share न करें :

dont share secret-stayreading

चाणक्य का यह सिद्धांत हमें यह बताता है कि जब भी आप कोई नया कार्य शुरू करते हैं, तो इसकी सूचना किसी बाहर वाले को कभी ना दें। यह राज अपने दिल में ही रखें, क्योंकि सफलता तो एक दिन अपने आप लोगों को सब कुछ बयां कर देती है और यदि आप असफल हुए भी तो कम से कम यह राज आप तक ही सीमित रहेगा और समाज में नकारात्मक सोच रखने वाले लोगों के मज़ाक का शिकार बनने से बचे रहोगे। 




यहां बात केवल सफल या असफल होने तक ही नहीं है, चाणक्य का मानना है कि व्यापार संबंधी राज जब लोगों को पता चल जाते हैं तो आपसे जलने वाले लोग इसे खुद के लिए इस्तेमाल कर लेते हैं। ऐसे में आप पीछे रह जाते हैं और आपके दुश्मन आपसे आगे बढ़ जाते हैं। याद रखिये ! लंका को जलाने में विभीषण का सबसे बड़ा हाथ था क्योंकि विभीषण को सारे राज़ मालूम थे। 

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • जब भी आप कोई नया कार्य शुरू करते हैं, तो इसकी सूचना किसी बाहर वाले को कभी ना दें। यह राज अपने दिल में ही रखें, क्योंकि सफलता तो एक दिन अपने आप लोगों को सब कुछ बयां कर देती है । 
  • व्यापार संबंधी राज जब लोगों को पता चल जाते हैं तो आपसे जलने वाले लोग इसे खुद के लिए इस्तेमाल कर लेते हैं। ऐसे में आप पीछे रह जाते हैं और आपके दुश्मन आपसे आगे बढ़ जाते हैं।
  • कोई काम शुरू करने से पहले, स्वयं से तीन सवाल जरूर कीजिये कि “मैं ये क्यों कर रहा हूं, इसके परिणाम क्या हो सकते हैं और क्या मैं सफल हो पाऊंगा? और जब गहराई से सोचने पर इन सवालों के संतोषजनक जवाब मिल जाएं, तभी आगे बढ़ें। 

7. व्यवसाय में जोखिम लेने का सिद्धांत :

risk-stayreading

चाणक्य के सिद्धांत के अनुसार यदि आप व्यापार को सफल बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ कड़े एवं अनिश्चित फैसले लेने पड़ेंगे।ब तक कि आप जोखिम नहीं लेंगे, तब तक आपसे सफलता कोसो दूर ही रहेगी और जिस भी स्थान पर बैठकर आप अपना कार्य शुरू करें तो उसे भी अपने अनुसार ढाल लें। जिससे आपको किसी भी तरह का मानसिक तनाव नहीं होगा ।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • यदि आप व्यापार को सफल बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ कड़े एवं अनिश्चित फैसले लेने पड़ेंगे। जब तक कि आप जोखिम नहीं लेंगे, तब तक आपसे सफलता कोसो दूर रहेगी ।
  • कोई भी व्यक्ति अपने कर्मों से महान बनता है, अपने जन्म से नहीं। 
  • भय को नजदीक न आने दें। अगर यह नजदीक आए भी तो इस पर हमला कर दो यानी भय से भागो मत इसका सामना करो। 





8. Business की Goodwill :

business goodwill-stayreading

चाणक्य के सिद्धांत के अनुसार पैसों से ज्यादा महत्व आपके व्यवसाय की इज़्ज़त यानी Goodwill है। अगर आपके कंपनी की Goodwill सही सलामत रहेगी तो आप भविष्य में इसी Goodwill से ढेरो पैसे कमा सकते हैं। इसलिए पैसा हर जगह महत्व नहीं होता। 

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • पैसों से ज्यादा महत्व आपके व्यवसाय की इज़्ज़त यानी Goodwill है। 
  • अगर आपके कंपनी की Goodwill सही सलामत रहेगी तो आप भविष्य में इसी Goodwill से ढेरो पैसे कमा सकते हैं। 
  • जो धन बहुत ज्यादा कष्टों के बाद मिले, जिसके लिए अपने धर्म का त्याग करना पड़े, जिसके लिए शत्रुओं की खुशामद करनी पड़े या उनकी सत्ता के अधीन होना पड़े, उस धन का कभी मोह नहीं करना चाहिए।

9. Negative Mind वाले Person से रहें दूर :

negative mind-stayreading

चाणक्य का यह सिद्धांत हमें बताता है कि जब भी आप किसी कार्य को शुरू करते हैं तो अपने आस-पास किसी negative minded person को न रखें , क्योंकि इनका काम ही होता है Negative thoughts लाना और demotivate करना। जो आपके कार्य में बाधा डालने का काम करेंगे। याद रखिये ! जैसे एक मछली पूरे तालाब को गन्दा कर देती है ठीक उसी तरह से एक negative mind person भी पूरे Organisation को demotivate कर सकता है।

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • एक ज्ञानी व्यक्ति का भी सिर चकरा जाता है जब वह किसी मुर्ख का भाषण सुनने लग जाता है। 
  • जब भी आप किसी कार्य को शुरू करते हैं तो अपने आस-पास किसी negative minded person को न रखें , क्योंकि इनका काम ही होता है Negative thoughts लाना और demotivate करना।
  • जैसे एक मछली पूरे तालाब को गन्दा कर देती है ठीक उसी तरह से एक negative mind person भी पूरे Organisation को demotivate कर सकता है।





10. ग्राहक को अपनी तरह खींचिए :

Successful Business Meeting --- Image by © Corbis

चाणक्य के अनुसार दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति युवा और सुन्दर स्त्री है । इसलिए जगह-जगह organisations या companies के reception पर आपने सुन्दर स्त्रियों को देखा होगा। यह अपने customer को attract करने की एक कला होती है। जो एक सुन्दर स्त्री बेहतर तरीके से जानती है और देश का युवा यानी आने वाले भविष्य की आन बान शान होता है।




यदि Business में कभी आपको किसी बड़े Financial Person जो आपके लिए customer है, उसके साथ deal करने का मौका मिले तो आपको यह  सोचकर घबराना नहीं है कि यह मुझसे काफी बड़ा है तो मेरी deal final कैसे होगी। बस आपको customer attraction का art मालूम होना चाहिए। चाणक्य के अनुसार गर साँपों के झुण्ड में कोई सांप जहरीला न हो तो उस सांप को ऐसे treat करना चाहिए कि वह कमज़ोर नहीं है, क्योंकि इसमें अलग-अलग तरह के लोगों के साथ deal success करनी होती है और यह businessman को अच्छे से आनी चाहिए।     

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • चाणक्य के अनुसार दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति युवा और सुन्दर स्त्री है।    
  • अगर साँपों के झुण्ड में कोई सांप जहरीला न हो तो उस सांप को ऐसे treat करना चाहिए कि वह कमज़ोर नहीं है। 
  • जो समय बीत गया, उसे याद कर पछताना व्यर्थ है। अगर आपसे कोई गलती हो भी गई तो उससे शिक्षा लेकर वर्तमान को श्रेष्ठ बनाने का प्रयास करना चाहिए, ताकि भविष्य को संवारा जा सके।





11. स्वार्थी लोगों से रहिये दूर :

selfish-stayreading

एक businessman को यह जरूर जान लेना चाहिए कि दोस्ती करने की वजह के पीछे भी कोई न कोई कारण जरूर होता है। जिससे वह आपका फायदा जरूर उठा सकता है इसलिए ऐसे लोगों से दूर रहिये जो सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए आपका इस्तेमाल कर रहे हों। किसी भी नए कार्य को शुरू करते समय आपके अंदर किसी भी तरह की हिचकिचाहट नहीं होनी चाहिए और बल्कि उस कार्य को करने का जूनून आपके अंदर होना चाहिए। जो व्यक्ति खाने, धन सम्बन्धी लेन-देन व ज्ञान हासिल करने में शर्माता नहीं है, तो उसका आने वाला समय खुशहाल रहता है

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  •  ऐसे लोगों से दूर रहिये जो सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए आपका इस्तेमाल कर रहे हों। 
  • किसी भी नए कार्य को शुरू करते समय आपके अंदर किसी भी तरह की हिचकिचाहट नहीं होनी चाहिए और बल्कि उस कार्य को करने का जूनून आपके अंदर होना चाहिए। 
  • जो व्यक्ति खाने, धन सम्बन्धी लेन-देन व ज्ञान हासिल करने में शर्माता नहीं है, तो उसका आने वाला समय खुशहाल रहता है।





12. Leadership में Power लाने का सिद्धांत :

powerful leadership-stayreading

इस सिद्धांत के अनुसार चाणक्य यह बताना चाहते हैं कि Leadership में सबसे आगे वही जा पाता है, जिनके पास power होती है। इसलिए Business में success के लिए Powerful होना जरुरी है। जब आप Powerful रहेंगे उतने ही Powerful लोग आपके साथ जुड़ते चले जाएंगे जिससे backup में आपके पास Powerful Manpower होगी। याद रखिये ! अगर Company के पास Financial Power नहीं है तो कंपनी ज्यादा समय तक नहीं टिक सकती क्योंकि Money=Reality !

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • Leadership में सबसे आगे वही जा पाता है, जिनके पास power होती है। इसलिए Business में success के लिए Powerful होना जरुरी है।
  • याद रखिये ! अगर Company के पास Financial Power नहीं है तो कंपनी ज्यादा समय तक नहीं टिक सकती।
  • किसी पदार्थ की सुगंध के प्रसार के लिए उसे हवा की जरूरत होती है लेकिन व्यक्ति का गुण या योग्यता किसी हवा के मोहताज नहीं होते। वे सभी दिशाओं में फैल जाते हैं ।





13. सीखने की कला का सिद्धांत  :

learning-stayreading

इस सिद्धांत के तहत चाणक्य का तात्पर्य है कि जब आप कोई व्यवसाय शुरू करते हैं तो आपको यह जरूर जान लेना चाहिए कि आप यह कार्य क्यों शुरू करने वाले हैं। अगर इसका जवाब आपको मिल जाता है, तो तुरंत आगे बढ़ जाइए। व्यवसाय में इंसान बेशक बूढ़ा होता चला जाए लेकिन उसको अपनी सीखने की कला कभी नहीं रोकनी चाहिए क्योंकि यही एक चीज़ है जो आपको भीड़ में से भी पहचान लेगी।  

छोटी-छोटी मगर मोटी बातें  :

  • जब आप कोई व्यवसाय शुरू करते हैं तो आपको यह जरूर जान लेना चाहिए कि आप यह कार्य क्यों शुरू करने वाले हैं। अगर इसका जवाब आपको मिल जाता है, तो तुरंत आगे बढ़ जाइए। 
  • व्यवसाय में इंसान बेशक बूढ़ा होता चला जाए लेकिन उसको अपनी सीखने की कला कभी नहीं रोकनी चाहिए क्योंकि यही एक चीज़ है जो आपको भीड़ में से भी पहचान लेगी।  
  • किसी भी कमजोर व्यक्ति से शत्रुता करना ज्यादा खतरनाक है। वह उस समय वार कर सकता है जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते।

इन्हे जरूर पढ़िए :


यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें। हमारी ID है :blog.stayreading@gmail.com ! article पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे और आपको हमारी यह Post कैसी लगी. नीचे दिए गए Comment Box में जरूर लिखें. यदि आपको हमारी ये Post पसंद आए तो Please अपने Friends के साथ Share जरूर करें. और हाँ अगर आपने अब तक Free e -Mail Subscription activate नहीं किया है तो नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up जरूर करें.

Happy Reading !

Tags

About the author

StayReading.com

StayReading.com का Main Motive ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करना और आगे बढ़ने में Help करना है। Inspirational और Motivational Quotes का अनमोल संग्रह है, जो आपको प्रेरित करेगा की आप अपने जीवन को नये अंदाज में देखें। हर Quotesऔर Stories का संग्रह आपके नज़रिए को व्यापक करती है और बताती है की पूर्ण इंसान बनने का मतलब क्या होता है। यह हमे सिखाती है की हम भी अपने जीवन में ज़्यदा प्रेम, साहस और करुणा कैसे हासिल कर सकते हैं।

2 Comments

Click here to post a comment

Sponsors links

FREE Email Subscription