Category - Uncategorized

Uncategorized

GK

1. What is the full form of the RAM? A) Random answer memory B) Random Access Memory C) Random another memory D) Random aces memory … Answer is B) The...

Uncategorized

अंधविश्वास को बढ़ावा दे रहा है Star Plus का “नज़र” Serial !

दोस्तों !स्वागत  है आपका एक बार फिर से Stayreading.com पर। आज हम आपको Television जगत के मशहूर व महिलाओं का पसंदीदा Serial के ऊपर चर्चा करने वाले हैं। जैसा कि...

Uncategorized

International Anti Corruption Day in Hindi !

International Anti Corruption Day यानी अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस को पूरे देश में 9 दिसंबर को मनाया जाता है। यह दिवस विशेष भ्रष्टाचार एवं उससे...

Uncategorized

ऐसे बनाएं अपने ही घर में खुद का Kitchen Garden !

दोस्तों ! स्वाद के साथ साथ अपने पूरे परिवार की भी फ़िक्र होनी चाहिए। इस सर्दियों में अपने ही घर में सब्ज़ियां उगाना कुछ गलत भी नहीं है। यह काम आपको जितना मुश्किल...

Uncategorized

Metro में ऐसे करते हैं जेबकतरें हाथ साफ़ !

मेट्रो में सफर करने वाले लोग अक्सर चलती मेट्रो के अंदर से ही या फिर स्टेशन पर जेबकतरों के शिकार बन जाते हैं। ये सभी जेबकतरें कुछ ख़ास तरीकों के जरिए लोगों की...

Uncategorized

बातें जो दुनिया बदलने में सक्षम है !

हेल्लो दोस्तों ! क्या हम कम समय में दुनिया को बदलने वाला काम कर सकते हैं ? या फिर कहीं ऐसा तो नहीं कि हम दूसरों जैसा बनकर उनसे भी बेहतर बनने की उम्मीद लगाए...

Uncategorized

भारतीय नृत्य संस्कृति !

आइए दोस्तों ! आज हम भारत के प्रसिद्ध नृत्य के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमे राजस्थान में सपेरा जाति की महिलाओं में कालबेलिया नाम का नृत्य लोकप्रिय है ,तो...

Uncategorized

दीवाली की रात है ! (ग़ज़ल)

आइए दोस्तों ! आज हम आपको “दीवाली की रात है” ग़ज़ल Share करने जा रहे हैं, जिनके रचयिता “लक्ष्मी शंकर वाजपेयी” जी हैं। इस ग़ज़ल में दिवाली से संबंधित ऐसे शब्दों का...

Uncategorized

निशा बीती अब आ रे ! (नवगीत)

हेल्लो  दोस्तों ! आज  हम आपको “निशा बीती अब आ रे !” नवगीत  Share करने जा रहे हैं,जिनकी रचयिता “डॉ. श्रुति मिश्रा” जी हैं। इस नवगीत में बहुत ही सुन्दर शब्दों का...

Uncategorized

दीये की रोशनी से दूर है महंगाई का अँधेरा !

अपने घर को रोशन करने के लिए दीये और मूर्तियां बनाने वाले कुम्हार के घर में कभी घर में अँधेरा न हो , इसलिए उन्होंने अपने सामान के दाम बढ़ाने के बजाय अपनी कमाई को...